Aus Vs Wi West Indies Created History Defeated Australia In Their Own Home After 27 Years

AUS vs WI: दो मैचों की टेस्ट सीरीज के तहत ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट खेला गया। इस मैच को वेस्टइंडीज टीम ने महज 8 रनों से जीत लिया। मुकाबले के स्कोरकार्ड पर नजर डालें तो टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज (AUS vs WI) की टीम ने पहली पारी में 311 रन बनाए थे। जवाब में कंगारुओं ने पहली पारी 289 रन बनाकर घोषित कर दी। दूसरी पारी में मेहमान टीम ने 193 बनाकर ऑस्ट्रेलिया के सामने 216 रनों का लक्ष्य रखा। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 207 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। इस जीत के साथ विंडीज टीम ने इतिहास रच दिया।

दोनों टीमों की पहली पारी का ऐसा रहा था हाल

Aus Vs Wi
Aus Vs Wi

ब्रिस्बेन में दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज (AUS vs WI) की भिड़ंत हुई है। सिक्का उछला और वेस्टइंडीज के पक्ष में गिरा। मेहमान टीम ने पहले बैटिंग करने का निर्णय लिया। पहले खेलने आई विंडीज टीम की पहली पारी 311 रनों पर सिमटी। उनकी ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज जोशुआ डीसिल्वा ने 79 रन ठोके। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिचेल स्टार्क ने चार विकेट लिए। जवाब में खेलने उतरी कंगारू टीम ने अपनी पहली पारी विंडीज के स्कोर से 22 रन पीछे 289 रनों पर घोषित कर दी। उस्मान ख्वाजा ने 75 तो वहीं एलेक्स कैरी ने 65 रनों का योगदान दिया।

यह भी पढ़ें: एमएस धोनी ने किया बड़ा ऐलान, युवाओं को मौका देने के लिए IPL से लिया संन्यास

वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर रचा इतिहास

Aus Vs Wi
Aus Vs Wi

वेस्टइंडीज (AUS vs WI) को पहली पारी के आधार पर 22 रनों की बढ़त हासिल हुई। दूसरी पारी में खेलने उतरी मेहमान टीम की तरफ से किर्क मैकेंजी ने 41, एलिक अथानाजे ने 35 और जस्टिन ग्रीव्स ने 33 रनों की अहम पारियां खेली। इन पारियों के दम पर जैसे-तैसे विंडीज टीम 193 रनों तक पहुंची। ऑस्ट्रेलिया को यह मैच जीतने के लिए 216 रनों का लक्ष्य मिला। हालांकि उनकी पारी ताश से पत्तों की तरह बिखरती हुई चली गई। एक समय उनका स्कोर 8 विकेट पर 175 रन हो गया था। स्टीव स्मिथ अकेले ही शुरु से लेकर आखिर तक डटे रहे। दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज ने 91 रनों की पारी खेली। हालांकि उनकी यह पारी काम नहीं आई। वेस्टइंडीज ने 8 रन से इस मैच को जीतकर सीरीज को 1-1 की बराबरी पर समाप्त किया।

5 कारण क्यों RCB की टीम इस बार भी नहीं जीत पाएगी IPL की ट्रॉफी, पिछले 16 सालों से चली आ रही ये सेम समस्याएं

"