This Player Of Team India Ended His Career Because Of A Girl.
This player of Team India ended his career because of a girl.

Team India: 90 के दशक में भारतीय क्रिकेट में एक नाम से खूब सुर्खियां कमाई। जी हां, हम बात कर रहे हैं विनोद कांबली की, जिनके करियर की शुरुआत बहुत ही तूफानी रही थी। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज के खेल को देखकर क्रिकेट पंडितों ने इन्हें क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से भी ज्यादा प्रतिभाशाली करार दिया था। मगर कुछ ही समय में वे अर्श से फर्श पर आ गए। लगातार विवादों में रहने के चलते उनका करियर ज्यादा आगे नहीं बढ़ सका। अब भारतीय क्रिकेट में एक और ऐसा ही खिलाड़ी सामने आया है, जिसने करियर की शुरुआत तो काफी अच्छी की, लेकिन अब उसका करियर खतरे में नजर आ रहा है।

कांबली की रह पर चल रहा है ये युवा भारतीय खिलाड़ी

Vinod-Kambli
Vinod Kambli

साल 2018 में भारत (Team India) को अंडर 19 वर्ल्ड कप जीताने वाले कप्तान पृथ्वी शॉ ने अपने करियर की शुरुआत जबरदस्त की। वर्ल्ड कप जीतने वाले साल ही उन्हें आईपीएल का टिकट मिल गया और दिल्ली कैपिटल्स के लिए चुन लिए गए। जहां उन्होंने धमाकेदार प्रदर्शन किया और इसी साल अक्टूबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम में भी शामिल कर लिए गए।

मगर उनका करियर परवान चढ़ता उससे पहले ही उन्होंने विनोद कांबली की राह पर चलना शुरू कर दिया है। वे एक के बाद एक लगातार विवादों में नजर आ रहे हैं। पिछले साल पृथ्वी शॉ और सोशल मीडिया स्टार सपना गिल के बीच मुंबई के एक पब में हुई लड़ाई ने भी काफी सुर्खियां बटोरी थी।

यह भी पढ़ें: एमएस धोनी के सालों पुराने दोस्त ने ही उन्हें लगाया 15 करोड़ का चूना, रांची में दर्ज करवाया केस, तो सामने आया काला सच

3 साल से नहीं मिला Team India में मौका

Prithvi Shaw
Prithvi Shaw

पृथ्वी शॉ ने 2018 में टेस्ट प्रारूप के साथ टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया था, लेकिन 6 साल के करियर में अभी तक वे केवल 5 टेस्ट, 6 वनडे और केवल 1 टी20 मैच खेल पाए हैं। उन्होंने आखिरी टेस्ट दिसंबर 2020 में, जबकि आखिरी वाइट बॉल मैच जुलाई 2021 में खेला था। इसके बाद से ही वे टीम इंडिया (Team India) में वापसी को लेकट संघर्ष कर रहे हैं।

वहीं, आईपीएल में भी वे लगातार फ्लॉप साबित हो रहे हैं। आईपीएल 2023 में खेले 8 मुकाबलों में उन्होंने 13.25 की औसत से केवल 106 रन बनाए। ऐसे में पृथ्वी शॉ के लिए खतरे की घंटी बज चुकी है। अगर वे अभी नहीं संभले तो वह भी गुमनामी में खो जाएंगे।

यह भी पढ़ें: गंभीर के चेले ने रणजी में मचाया कोहराम, 13 गेंद पर ठोका अर्धशतक, अब मिलेगी अफगानिस्तान सीरीज में एंट्री