Arshi Khan

नई दिल्ली, Arshi Khan expressed body shaming pain: बॉलीवुड हो या टीवी एक्ट्रेस हर कोई कभी ना कभी बॉडी शेमिंग का शिकार जरूर हुई हैं। बॉडी शेमिंग एक ऐसा मुद्दा है जिससे आए दिन लोगों का सामना होता है। किसी के मोटापे तो किसी के पतले होने, या किसी के शरीर की बनावट का लोग मजाक उड़ाने से कतराते नहीं हैं। इस लिस्ट में बिग बॉस फेम एक्ट्रेस अर्शी खान का नाम भी शामिल है। हाल ही में अर्शी खान ने बॉडी शेमिंग को लेकर अपना दर्द बयां किया है। उन्होंने बताया कि अब वह इसका सामना करते-करते थक गई हैं।

Arshi Khan

कास्टिंग डायरेक्टर को लेकर Arshi Khan ने किया बड़ा खुलासा

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान अर्शी खान (Arshi Khan) ने बॉडी शेमिंग के अपने बुरे अनुभव को साझा करते हुए कहा कि, ‘मुझे लगता है कि बॉडी शेमिंग, उत्पीड़न और अपमान के सबसे गंभीर रूपों में से एक है और आमतौर पर हम महिलाओं द्वारा इसका अनुभव किया जाता है। मैं इसको झेलते-झेलते थक गई हूं। लोग मेरी पीठ और उसके साइज़ के बारे में टिप्पणी करते रहते हैं।’ उन्होंने इस दौरान एक कास्टिंग डायरेक्टर के बारें में बातते हुए कहा कि, ‘कभी-कभी कास्टिंग निर्देशक कहते हैं कि इस तरह का लुक केवल विदेशी सिनेमा में अच्छा दिखता है, भारतीय सिनेमा के लिए नहीं।

Arshi Khan

फिगर फ्लॉन्ट करने वाली अभिनेत्रियों में नाम हुआ शामिल

अर्शी (Arshi Khan) कहती हैं कि, मुझे समझ में नहीं आता कि इस पर कैसी प्रतिक्रिया दूं। एक बार एक कास्टिंग मैन ने मुझे उन अभिनेत्रियों में शामिल होने के लिए कहा, जो लोगों के सामने अपना फिगर फ्लॉन्ट करती हैं।’ ‘सावित्री देवी’ ‘कॉलेज एंड हॉस्पिटल’ और ‘इश्क में मरजावां’ जैसे टेलीविजन शो में अभिनय के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री ने ये भी खुलासा किया कि वह खुद को संभालने के लिए काफी मजबूत हैं।

Arshi Khan

‘मैं खुद से प्यार करती हूं’- Arshi Khan

अर्शी (Arshi Khan) आगे कहती हैं कि, ‘मैं खुद से प्यार करती हूं और मैं अपने लुक से खुश हूं। मुझे अपने संघर्षों, अपनी कहानियों के बारे में बताने में मज़ा आता है। कोई भी रोते हुए बिस्तर पर नहीं जाना चाहत और यह सोच के बिल्कुल परे है कि कितने लोग हर दिन इसका अनुभव करते हैं’। अभिनेत्री ने कहा, ‘मुझे ऐसा लगता है कि ‘ये लोग कौन हैं?’, ‘हम उनकी बातों की परवाह क्यों करते हैं?’ और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि ‘हम खुद से घृणा क्यों कर रहे हैं क्योंकि कोई और सहज नहीं है?’ मुझे विश्वास है कि मैं अपनी कड़ी मेहनत और समर्पण से जीतूंगी और अपने लक्ष्यों को हासिल करूंगी’।