Mustard Oil Price: सरसों तेल हुआ महंगा, जल्दी खरीदें नवरात्री में बढ़ने वाली है कीमत, जानिए क्या है नई कीमत

इस सप्ताह सरसों तेल की थोक कीमतों में मामूली वृद्धि हुई। हालांकि, अन्य सामानों के रेट स्थिर रहे। सरसों तेल की थोक कीमत में वृद्धि से फुटकर दाम में भी बढ़ोतरी तय है। पिछले सप्ताह शनिवार को रिफाइंड और पामोलीन की कीमतों में गिरावट हुई थी। हालांकि वनस्पति घी की कीमत में वृद्धि हुई थी। वहीं सरसों तेल का दाम स्थिर था।

सरसों तेल में बढ़ी कीमत

Mustard Oil Price: सरसों तेल हुआ महंगा, जल्दी खरीदें नवरात्री में बढ़ने वाली है कीमत, जानिए क्या है नई कीमत

अब सरसों के तेल के थोक दाम (15 किलो टिन) में 15 से 20 रुपये की वृद्धि हुई है। इससे फुटकर दाम में भी एक-दो रुपये किलो की बढोतरी की संभावना जताई जा रही है। शनिवार को रिफाइंड का दाम (15 लीटर टिन) 110 रुपये और पामोलीन के रेट में (15 किलो टिन) 50 रुपये की गिरावट हुई थी। इससे रिफाइंड का मूल्‍य (15 लीटर टिन) घटकर 2150 रुपये और पामोलीन का रेट (15 किलो टिन) गिरकर 2000 रुपये हो गया था। सरसों तेल का थोक (15 किलो टिन) मूल्य 2850 रुपये था, जो बढ़कर 2865-2870 रुपये हो गया है।

फूटकर में ये है सरसों तेल की कीमत

Mustard Oil Price: सरसों तेल हुआ महंगा, जल्दी खरीदें नवरात्री में बढ़ने वाली है कीमत, जानिए क्या है नई कीमत

फुटकर में सरसों तेल का दाम 180 रुपये लीटर, रिफाइंड की कीमत 158 लीटर और पामोलीन का दाम 130 रुपये लीटर था। पिछले दिनों सरसों तेल का थोक रेट (15 किलो टिन) 2800 रुपये हो गया था, जो बाद में बढ़ गया था। वहीं, वनस्पति घी की कीमत में थोक रेट (15 किलो टिन) में लगभग 100 रुपये में वृद्धि हुई थी। वनस्पति घी का थोक रेट (15 किलो टिन) 1900 रुपये हो गया था।