पबजी की लत ने किया बंटाधार, दादा जी के पेंशन के 2.34 लाख रुपए उड़ाए

नई दिल्ली- भारत में हाल ही प्रतिबंधित मोबाइल गेम पबजी बच्चों से किस तरह से ‘कांड’ करा सकता है इसका एक और उदाहरण दिल्ली में मिला है। 15 वर्षीय एक नाबालिग लड़के ने अपने दादा की पेंशन के 2.34 लाख रुपए दो महीने के अंदर ही उड़ा दिए। जब बुजुर्ग को मैसेज के जरिए पैसे ट्रांसफर होने की जानकारी मिली तो उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई।

पबजी गेम खेलने के लिए दादा जी के पेंशन अकाउंट से उड़ाए पैसे

पबजी की लत ने किया बंटाधार, दादा जी के पेंशन के 2.34 लाख रुपए उड़ाए

2.34 लाख रुपए दो महीने में खत्म होने की एक ऐसी वजह सामने आई है जिसे जानकार आप भी हैरान हो जाएंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, द्वारिका के डीसीपी एंटो अल्फोंस ने बताया कि दो महीने की अवधि में, लड़के ने अपने 65 वर्षीय दादा के खाते से 2.34 लाख रुपये ट्रांसफर किए। तब तक कि आदमी को ट्रांसफर के बारे में खबर नहीं थी। किशोर के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई होने की संभावना नहीं है क्योंकि उसके दादा ने इस मामले पर कोई भी कार्रवाई न करने का फैसला लिया है।

पहले भी हो चुकी हैं ऐसी घटनाएं

पंजाब के मोहाली के रहने वाले एक 15 वर्षीय बच्चे ने पब जी गेम खेलने के चक्कर में अपने दादाजी के अकाउंट से 2 लाख रुपये खर्च कर दिए जो कि उनकी पेंशन के पैसे थे। बच्चे में गेमिंग के दौरान उपयोग होने वाले गेमिंग आइटम खरीदने के लिए इन पैसों का उपयोग किया। रिपोर्ट में बताया गया है कि बच्चे ने ​पेटीएम अकाउंट के जरिएए गेम में पेमेंट की है और पिछले दो महीने में कुल 30 ट्रांजेक्शन किए गए हैं।

वहीं पंजाब से ही हाल ही में एक खबर आई थी कि एक 16 वर्षीय बच्चे ने पब जी खेलते हुए अपने पेरेंट्स के अकाउंट से 16 लाख रुपये की रकम खर्च कर दी थी। वहीं हजारीबाग में छात्र के भुक्तभोगी पिता जो कि रेलवे में लोको पायलट की नौकरी करते थे उनके दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले बेटे ने ऑनलाइन पढ़ाई के नाम से मोबाइल खरीदवाया किन्तु इस मोबाइल पर पबजी खेलना शुरू कर दिया।

उसकी पबजी खेलने की लत इतनी बढ़ गई कि गेम कैरेक्टर के लिए डायमंड ड्रेस और हथियार खरीदने के लिए अपने पिता के साढ़े छह लाख रुपये चोरी कर लिए।

Leave a comment

Your email address will not be published.