अपना खुद का देश बनाने के बाद दुष्कर्म के आरोपी और भगौड़े नित्यानंद ने बनाया रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा

नई दिल्ली- दुष्कर्म के आरोपी बाबा नित्यानंद की भारतीय जांच एजेंसियां अभी तलाश ही कर रही हैं। लेकिन वह अपने अज्ञात स्थान से नई-नई घोषणाएं कर रहा है। अब उसने अपना केंद्रीय बैंक शुरू कर दिया है। इसके पहले वह कैलासा नाम का एक अलग देश और उसकी कैबिनेट बनाने का दावा कर चुका है। नित्यानंद पर भारत में दुष्कर्म और बच्चों के साथ उत्पीड़न का भी आरोप है। 2019 में उसने इक्वाडोर के पास एक द्वीप पर उसने एक अलग देश कैलासा बसा लिया है। कैलासा का अपना झंडा और संविधान है।

तीन दिन पहले वीडियो बनाकर दी थी जानकारी

अपना खुद का देश बनाने के बाद दुष्कर्म के आरोपी और भगौड़े नित्यानंद ने बनाया रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा

इंटरनेट पर उसका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें बाबा नित्यानंद ने ऐलान किया है कि इस साल 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी के दिन अपने ‘रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा’ की तरफ से औपचारिक मुद्रा जारी करेगा। उसने बताया था कि उसका इस मामले में ‘एक देश’ से करार हो गया है जहां से उसके रिजर्व बैंक को होस्ट किया जाएगा यानी वहीं से संचालित किया जाएगा।

मलयालयम भाषा के इस वीडियो में नित्यानंद कहता है कि उसके केंद्रीय बैंक के सभी कार्य ‘वैध’ हैं और ‘रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा’ की आर्थिक नीतियां तैयार कर ली गई है। उसने कहा, ‘गणपति की कृपा से जल्दी ही रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा’ का सारा विवरण सामने आ जाएगा।

वीडियो में उसे यह कहते हुए सुना जा सकता है कि बैक के लिए पूरी आर्थिक नीतियां, 300 पन्ने का दस्तावेज, करेंसी पूरी तरह से तैयार है। हम जो करने जा रहे हैं उसकी आर्थिक रणनीति, आंतरिक मुद्रा का उपयोग और बाहरी विश्व मुद्रा विनिमय सभी कानूनी रूप से किया गया है। नित्यानंद ने अपने देश का पासपोर्ट भी बना लिया है और वहां की इकोनॉमिक सिस्टम को भी तैयार कर लेने का दावा किया है।

एक्ट्रेस के साथ वीडियो वायरल होने पर आया था चर्चा में

नित्यानंद पर दुष्कर्म का आरोप है और वह अपने खिलाफ चल रही एक भी सुनवाई में अदालत में हाजिर नहीं हुआ है। नित्यानंद साल 2010 में सुर्खियों में आया जब एक एक्ट्रेस के साथ उसका वीडियो वायरल हुआ। उस समय उसके कई नामी-गिरामी शिष्यों के नाम भी सामने आए थे।

इस वीडियो के वायरल होते ही नित्यानंद अंडरग्राउंड हो गया था। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। नवंबर 2010 में पुलिस द्वारा लगाई गई चार्जशीट में बताया गया था नित्यानंद के आश्रम में ऐसा कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाया जाता था जिसकी आड़ लेकर यौन शोषण करना बेहद आसान था।

Leave a comment

Your email address will not be published.