इस दिशा में न रखें कूड़ेदान नहीं तो आएगी गरीबी, जाने क्या है कूड़ा रखने की सही जगह

वास्तु दोष:- वास्तु शास्त्र को बहुत ही ज्यादा महत्व दिया जाता है. हमारे घर से लेकर खाने-पीने बैठने, सोने से लेकर हर एक चीज को हम दिशा के अनुसार करते हैं. इसी दिशा से आज हम जानेंगे कि कहा पर हम जाने अनजाने में गलतियां कर जाते है. कभी-कभी हमें यह नहीं पता होता कि हमें कौन से सामान को किस जगह, किस दिशा ,कहां पर रखनी चाहिए. इसी तरीके से आज हम जानेंगे कि कूड़ा दान हमें कौन सी दिशा में रखने से क्या हानि होती है.

कूड़ेदान को रखें इस दिशा में वरना होंगे परेशान

इस दिशा में न रखें कूड़ेदान नहीं तो आएगी गरीबी, जाने क्या है कूड़ा रखने की सही जगहवास्तु शास्त्र के अनुसार कुडादान उत्तर -पूर्व दिशा में नहीं रखना चाहिए| कूड़ेदान को अगर हम उत्तर दिशा में रखते हैं, तो करियर और धन से बहुत हानि मिलती है, ऐसे में जिन घरों में कूड़ेदान उत्तर दिशा में होता है, वहां लोगों को धन प्राप्त करने के अवसर नहीं मिलते हैं .उत्तर पूरब दिशा में कचरा रखने से भी आर्थिक समस्याएं झेलनी पड़ सकती हैं वहीं दक्षिण-पूर्व दिशा में कूड़ेदान रखने से धन हानि की संभावना बढ़ती है. दक्षिण-पश्चिम दिशा में कूड़ेदान रखने से वास्तु शास्त्र में इस बात का जिक्र मिलता है, कि घर में खर्चा कम होता है. इस दिशा को फायदे और मेहनत का फल देने वाला माना जाता है. ऐसा इसलिए इस दिशा में छात्र अपनी जीवन में महत्वपूर्ण लक्ष्य को प्राप्त करता है. ऐसा इसलिए क्योंकि उसे फोकस करने में भी मदद मिलती है , वही अवसाद से पीड़ित लोग अपने घर में पश्चिम या उत्तर दिशा में कूड़ेदान रखना चाहिए.

अपने घर में मंदिर को रखें इस दिशा में तो हो जायेंगे माला माल

इस दिशा में न रखें कूड़ेदान नहीं तो आएगी गरीबी, जाने क्या है कूड़ा रखने की सही जगह

वास्तु शास्त्र में धन प्राप्ति के कई उपाय बताए गए हैं. वास्तु शास्त्र विशेषज्ञों का मानना है, कि इन उपायों के माध्यम से घर में धन प्राप्ति के योग बनते हैं. अगर आप भी वास्तुशास्त्र के उपायों को अपना कर धन की प्राप्ति करना चाहते हैं, तो अपने घरों में यह पांच चीजें जरूर रखें. विद्वानों का मानना है कि इससे  समृद्धि और धन की प्राप्ति होती है.

जब भी हम नया घर बनवाते हैं या बने हुए घर को सुसज्जित करते हैं, तो हर जगह को विभाजित कर देते हैं ऐसे में वॉशरूम, किचन रूम, लिविंग रूम, पूजा रूम जिसमें हम अपने कुल देवी देवताओं को रखते हैं. तथा हिंदू धर्म के अनुसार हमारे दिन की शुरुआत शरीर की साफ-सफाई के बाद सबसे पहले हम पूजा घर में प्रवेश करते हैं.

भगवान की पूजा करके अपने दिन की शुरुआत करते हैं. ऐसे में यह जानना बेहद आवश्यक है, कि हमें अपना पूजा घर किस दिशा में रखनी चाहिए, जिससे हमारे जीवन में किसी भी प्रकार का की कोई भी दोष ना पड़े. ऐसा इसलिए किया जाता है, क्योंकि पूजा घर अगर गलत दिशा में बना होगा तो घर में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होंगी एवं जीवन में हमारे किसी भी प्रकार की सुख शांति नहीं मिलेंगी सकारात्मक ऊर्जा नहीं मिलेगा इससे नकारात्मक पहलू मजबूत हो जाएंगे, इसीलिए हमें सदैव अपने पूजा घर को उत्तर एवं पूर्व दिशा में रखना चाहिए ऐसा माना जाता है, कि ईशान कोण में उजागर होने से घर में तथा उसमें रहने वाले लोगों पर सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव पड़ता है. जिससे देवी देवता प्रसन्न होकर पूजा करने का परिणाम देते हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published.