धान बेचने किसान के वेश में पहुंचे डीएम, मिली थी शिकायत
/

धान बेचने किसान के वेश में केंद्र पर पहुंचे डीएम, मिली थी शिकायत

उत्तर प्रदेश के रामपुर में धान खरीदने के लिए बनाए गए केंद्रों पर डिस्ट्रिक्ट मेजिस्ट्रेट आंजनेय कुमार सिंह ने एक अलग अंदाज में निरीक्षण किया । इस दौरान डिस्ट्रिक्ट मेजिस्ट्रेट आंजनेय कुमार सिंह ने काफी अनियमितताएं पाई, जिस पर जिलाधिकारी ने लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

अनोखे अंदाज में दिखे डीएम

जांच पड़ताल करने के लिए डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने  साधारण किसान की वेशभूषा बाजार में धरना बोला। डीएम पैरों में हवाई चप्‍पल और चेहरे पर अंगोछा बांधे हुए थे। इस अनोखी वेश भूषा में आंजनेय को कोई पहचान नहीं पाया। डीएम ने अपनी टीम को  500 मीटर दूर ही खड़ा रहने का निर्देश दिया था और वो स्वयं प्राइवेट गाड़ी से वहां पहुंचे थे। इसके बाद डिप्टी कलेक्टर बिलासपुर और बाकी अधिकारियों के साथ डीएम के मौजूद होने की जानकारी मिलते ही परिसर में हड़कंप मच गया।

ये थे डीएम के शब्द

डीएम जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार ने बताया, ‘हमें सामान्य व्यक्ति की तरह जाना जरूरी थी। मैं किसान बनकर निजी गाड़ी से गया था। यह जानना ज़रूरी थी कि हमारे मंडी के लोग मिले तो नहीं हुए है। इसमें जो कमी मिली है उनमें एक ठेकेदार पर एफआईआर कर रहे हैं। एक कर्मचारी हाज़िर नहीं था, उसपर विभागीय कार्यवाही की गई है। एक कमेटी बनाई है जो इन पर निगरानी रखेगी। और आगे भी इस तरह से ही कार्यवाही की जाएगी।’

डीएम ने किया ट्वीट

डीएम  कार्यालय ने इस बात की जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर भी दी है और डीएम ने उस ट्वीट को रीट्वीट किया है। पोस्ट करते हुए उन्हों ने लिखा है कि हमारी जड़ें हमें जीवन भर संजोए रहती हैं। हमें जोड़े रखती हैं ज़िंदगी के मूलभूत पाठों से। हम क्या हैं इसे निर्धारित करने में हमारी जड़ों से हमारा जुड़ाव महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। धान खरीद. किसानों के बीच. जिलाधिकारी की तरह नहीं. किसान की तरह।”

दोषियों के खिलाफ होगी कार्यवाई

बिलासपुर स्थित एन सी सी एफ के क्रय केंद्र पर भारी अनियमितता पर जिलाधिकारी ने केंद्र प्रभारी के खिलाफ धान क्रय में शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के प्रति लापरवाही बरतने के कारण एफआईआऱ दर्ज करने  के निर्देश भी जारी किए है।