पुलिस ने किया ड्रग्स और नशीली दवाओं का धंधा करने वालों का भंडाफोड़
/

पुलिस ने किया ड्रग्स और नशीली दवाओं का धंधा करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 11 राज्यों में है नेटवर्क

आगरा में पुलिस ने नशीली दवाओं और ड्रग्स का गोरख धंधा करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो पंजाब समेत देश के 11 राज्यों में ड्रग्स की सप्लाई करता था।

आगरा: नशे को लेकर पंजाब पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए नशीली दवाओं और ड्रग्स के कारोबार का भंडाफोड़ कर दिया है और इन लोगों की धर-पकड़ के बाद सबको गिरफ्तार कर लिया गया है। ये सभी नशीली दवाओं का ताज नगरी आगरा से कारोबार कर रहे थे। इस एक धर-पकड़ के साथ ही इस पूरे मामले में कई बड़े राज खुले हैं जो असल में बेहद चौंकाने वाले हैं।

छापेमारी में तीन गिरफ्तार

दरअसल ये मामला आगरा का है जहां पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पंजाब पुलिस के साथ जिले के कमला नगर इलाके के दवा व्यवसाई के घर में छापेमारी की। इनमें से एक प्रमुख शख्स है जो पूरे इस नशे के कारोबार को चलाता है। यही समूह पंजाब के बरनाला में भी नशीली दवाओं की सप्लाई कर रहा था और इसलिए पंजाब पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है।

पुलिस ने बताया कि कमला नगर में छापेमारी करने के बाद दवा व्यवसाई को पकड़ा और फिर उसके जरिए दो अन्य लोगों को पकड़ा। इन सभी से पंजाब की पुलिस पूछताछ कर रही है। जानकारी के मुताबिक यह सभी नशीली दवाओं की तस्करी में शामिल थे।

11 राज्यों में नेटवर्क

पुलिस की प्राथमिक जांच में पता चला है कि यह समूह केवल पंजाब में ही नहीं बल्कि देश के 11 राज्यों में नशीली दवाओं समेत ड्रग्स का धंधा करता है और उन्हें सप्लाई करता है। बरनाला और मोगा से भी पुलिस ने 20 से ज्यादा इस गोरखधंधे को करने वाले सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। छापेमारी के दौरान पुलिस को बड़ी संख्या में नशीली दवाएं और पैसे मिले हैं।

जब्त किया गया जखीरा

जानकारी के मुताबिक पुलिस को गिरफ्तारी की जगह से करीब 27,62,167 नशीली दवाएं, ड्रग्स, टेबलेट और कैप्सूल मिले हैं। उसके अलावा इस जगह से करीब 70 लाख रुपए से ज्यादा ड्रग मनी मिली है। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। खबरों के मुताबिक गिरोह हवाला के जरिए नशीली दवाओं की तस्करी कर रहा था।

कहां के थे यह लोग

पुलिस द्वारा दी गई आधिकारिक जानकारी के मुताबिक नशीली दवाओं का धंधा करने वाले ये लोग अधिकतर पंजाब के ही हैं। इस पूरे समूह में पंजाब के 16 उत्तर प्रदेश के दो हरियाणा का एक और दिल्ली का एक शख्स शामिल था। और आगरा में बैठकर ही लोग पूरे देश में नशीली दवाओं का धंधा करते थे। दवाओं की तस्करी के लिए यह लोग एमआर यानी मार्केट रिप्रेजेंटेटिव का चोला ओढ़ ड्रग्स की तस्करी करते थे।