राष्ट्रपति का ऐलान, सबसे पहले खुद पर करेंगे वैक्सीन का टेस्ट
//

वेनेजुएला के राष्ट्रपति का ऐलान, सबसे पहले खुद पर करेंगे रूसी वैक्सीन का टेस्ट

दुनिया के कई देश, खासकर पश्चिम रूस की बनाई Sputnik-V वैक्सीन पर शक जता रहे हैं। वहीं, वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने ऐलान किया है कि देश में रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन उनके ऊपर टेस्ट की जाएगी।

काराकास- दुनिया के कई देश, खासकर पश्चिम रूस की बनाई Sputnik-V वैक्सीन पर शक जता रहे हैं। वहीं, वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने ऐलान किया है कि देश में रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन उनके ऊपर टेस्ट की जाएगी। रूस की वैक्सीन Sputnik-V दुनिया में अप्रूव होने वाली सबसे पहली वैक्सीन है और इसका उत्पादन भी शुरू हो गया है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक वेनेजुएला में अब तक 33 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं और 281 लोगों की मौत हो चुकी है।

दुनिया भर में कहर ढा रहा कोरोना

दुनिया भर में कोरोना वायरस की रफ्तार तेजी से बढ़ रहा है और ये थमने का नाम नहीं ले रहा। हर दिन संक्रमण के लाखों मामले सामने आ रहे हैं। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनिया में कोरोना से अब तक 21,823,997 लोग संक्रमित हैं। वहीं इस खतरनाक वायरस के कारण अब तक 773,279 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि राहत की बात है कि 14,558,310 लोग ठीक भी हो चुके हैं।

वहीं कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका है, यहां कोरोना संक्रमण के मामले प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहे है, अमेरिका में अब तक 5,566,632 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं और 173,128 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं ठीक होने वालों की संख्या 2,922,724 है।

20 करोड़ डोज तैयार करने की तैयारी

स्टेटमेंट यह भी कहा गया है कि इस साल के अंत तक इस वैक्सीन के 20 करोड डोज तैयार करने की तैयारी है। इसमें रूस के लिए 3 करोड़ डोज शामिल हैं। स्टेटमेंट कहता है कि इस वैक्सीन के लिए दुनिया के कम से कम 20 देशों ने दिलचस्पी जाहिर की है। कहा जा रहा है कि रूस में इस वैक्सीन को लेकर पुतिन प्रशासन की तरफ से काफी दबाव था।

वैक्सीन लेकर पेश करूंगा उदाहरण

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने इस बात के लिए खुशी जताई है कि दुनिया में सबसे पहले रूस की वैक्सीन लोगों को दी जाएगी। उन्होंने कहा,

“एक वक्त होगा जब हम सब वैक्सिनेट होंगे और सबसे पहले मेरा वैक्सिनेशन होगा। मैं वैक्सीन लूंगा और उदाहरण पेश करूंगा।”

रूसी अधिकारियों के मुताबिक 20 देशों ने इसे खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है। वेनेजुएला यह कब भेजी जाएगी, अभी इसकी जानकारी नहीं है।