26 और 27 नवंबर को Ncr से दिल्ली की ओर नहीं चलेगी मेट्रो, एडवाइजरी हुई जारी

केंद्र सरकार द्वारा नए कृषि कानून के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 26 और 27 नवंबर को हरियाणा उत्तर प्रदेश और पंजाब के किसान संगठनों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च के आवाहन पर पुलिस ने अलर्ट मोड जारी कर दिया है. दिल्ली मेट्रो ने भी एडवाइजरी जारी की है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने जानकारी दी है कि , ”शुक्रवार के दिन एनसीआर से दिल्ली के लिए मेट्रो नहीं चलाई जाएगी”. दिल्ली से एनसीआर रूट पर मेट्रो का परिचालन किया जा सकता है.

26 और 27 नवंबर को Ncr से दिल्ली की ओर नहीं चलेगी मेट्रो, एडवाइजरी हुई जारी

दिल्ली बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात

कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में किसानों का आंदोलन और तेज हो गया है. पंजाब और हरियाणा से काफी भारी संख्या में किसानों ने दिल्ली की सीमाओं की ओर बढ़ना शुरू कर दिया है. किसानों को दिल्ली में घुसने व रोकने के लिए पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से तैयार है. किसानों का आंदोलन रोकने के लिए दिल्ली की तरफ से सीमाओं पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात कर दी गई है. साथ ही सीमा में घुसने से रोकने के लिए पुलिस ने पहली बार 3 नए तरीके भी आजमाए हैं. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने कोरोना महामारी के कारण दिल्ली के सिंधु बॉर्डर पर कोविड-19 का बैनर भी लगा दिया है.

26 और 27 नवंबर को Ncr से दिल्ली की ओर नहीं चलेगी मेट्रो, एडवाइजरी हुई जारी

दिल्ली बॉर्डर पर लगाए गए कटीले तार के बंडल

सिंधु बॉर्डर पर लगाए गए बैनर में यह साफ लिख दिया गया कि, किसी भी तरह के प्रदर्शन की इजाजत नहीं है. यदि नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो इसके खिलाफ कार्यवाही भी की जाएगी. अगर बात की जाए दिल्ली पुलिस के दूसरे तरीके की तो किसानों के प्रदर्शन को लेकर दिल्ली पुलिस ने दूसरा तरीका यह अपनाया है कि, दिल्ली में जो भी लोग प्रवेश करेंगे उनके वाहनों की चेकिंग जोरो से की जा रही है. बॉर्डर पर अंदर आने वाले लोगों के कागजात चेक किए जाएंगे और वजह भी पूछी जाएगी. पूरी जांच-पड़ताल होने के बाद ही दिल्ली में प्रवेश दिया जाएगा. इतना ही नहीं दिल्ली बॉर्डर पर कटीले तार के बंडल भी लगा दिए गए हैं जिन्हें बेरिकेड्स से बांधा गया है.

किसानों ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने की योजना बनाई

बेरिकेड्स इसलिए लगाए जाएंगे क्योंकि, किसानों के उग्र प्रदर्शन के दौरान अगर ट्रैक्टर या अन्य वाहन वेरीकेट को टक्कर मारेंगे तो पहले ही उनका टायर पंचर हो जाएगा. जैसा कि हमने आपको बताया कि, पंजाब हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अलावा देश के कई राज्य के किसान केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए नए कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे, इसके मुताबिक हरियाणा और उत्तर प्रदेश के हजारों लोग प्रदर्शन में शामिल होंगे. इन सभी किसानों ने 26 और 27 नवंबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने की योजना बनाई थी जिसे रोकने के लिए पुलिस पूरी तरह से सतर्क हो चुकी है.

26 और 27 नवंबर को Ncr से दिल्ली की ओर नहीं चलेगी मेट्रो, एडवाइजरी हुई जारी

 

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...