दिल्ली में बिहार के मिस्त्री ने 6 गज में 3 मंजिला मकान बनाकर भारत का नाम किया विश्व में उंचा

राजधानी दिल्ली के बुराड़ी में महज 6 गज़ जमीन में बने 3 मंज़िला मकान  को देखने के लिए लोग बड़ी दूर-दूर से लोग यहां आते हैं. लोग ताज्जुब करते हैं कि कैसे 6 गज़ में तीन मंज़िला मकान बन सकता है, लेकिन जब मकान को अपनी आंखों से देखते हैं तो एक बार को मकान का डिजाइन  तैयार करने वाले की तारीफ किए बिना भी नहीं रहते हैं, लेकिन दिल्ली  का यह चर्चित मकान टूट सकता है. नियमों को दरकिनार कर 6 गज़ में तीन मंज़िला मकान बनाया गया है. एमसीडी  की निगाह मकान पर है. इसे आसपास के दूसरे मकानों के लिए भी खतरा  बताया गया है.

इस कारण से तोड़ने का किया फैसला

दिल्ली में बिहार के मिस्त्री ने 6 गज में 3 मंजिला मकान बनाकर भारत का नाम किया विश्व में उंचा

एमसीडी के एक इंजीनियर ने बताया कि कुछ खबरों में हमने उस मकान को देखा है. मकान पूरी तरह से नियम-कायदे को तोड़कर बनाया गया है. इसके लिए कम से कम 32 स्क्वायर मीटर ज़मीन होनी चाहिए थी. और यह बना है 6 गज मतलब 5 मीटर में. यह मकान इसमे रहने वालों के लिए तो खतरा है ही, साथ में आसपास जो मकान बने हैं उनके लिए भी खतरा है.

भविष्य में जब भी कॉलोनी एप्रूव्ड होगी तो यह मकान अप्रूव्ड नहीं हो सकेगा. इतना ही नहीं अगर वहां रहने वाला कोई शिकायत करता है तो यह मकान टूट भी सकता है. डीडीए के एक अन्य इंजीनियर का कहना है कि जिस जगह में यह मकान बना है वो कच्ची कालोनी में आती है. इस तरह की ज़मीन पर ऐसे मकान तैयार करना भी गैरकानूनी है.

बिहार का है मकान का निर्माता

दिल्ली में बिहार के मिस्त्री ने 6 गज में 3 मंजिला मकान बनाकर भारत का नाम किया विश्व में उंचा

इस मकान को बनाने वाला अब इस इलाके में नहीं रहता है. मकान बनाने वाले शख्स का नाम अरुण था, जो बिहार के मुंगेर जिले का रहने वाला था. अरुण इलाके के ही एक ठेकेदार के यहां नौकरी किया करता था. उस ठेकेदार का काम इलाके की जमीन की प्लॉटिंग कर उसे बेचना था, जिस जमीन पर यह मकान बना हुआ है, वहीं से गली नंबर 65 के लिए रास्ता निकलना था. रास्ता निकलने के बाद कोने की 6 गज जमीन बच गई. और उस कारीगर ने ठेकेदार से 6 गज का हिस्सा अपने नाम करवा कर यह मकान बनवा लिया.

Shukla Divyanka

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...