इस बॉलीवुड अभिनेत्री से शादी करने वाले हैं राजकुमार रॉव, लव,सेक्स और धोखा से शुरू हुआ अफेयर

31 अगस्त 1984 को हरियाणा के एक छोटे से गांव में जन्मे राजकुमार की लाइफ से जुड़ी कुछ बातें काफी दिलचस्प हैं। आपको बता दें पहले उनका नाम राजकुमार यादव था, लेकिन फिल्मों में आने के बाद उन्होंने अपना सरनेम यादव से बदलकर राव कर लिया। राजकुमार ने अपनी मम्मी के कहने पर अपना सरनेम यादव से राव कर लिया था। राजकुमार अंग्रेजी में Rajkummar लिखते हैं। मम्मी के कहने पर ही उन्होंने अपने नाम में एक m और लगा लिया।

लड़किया खून से लिखती थी लेटर

इस बॉलीवुड अभिनेत्री से शादी करने वाले हैं राजकुमार रॉव, लव,सेक्स और धोखा से शुरू हुआ अफेयर

राजकुमार ने एक इंटरव्यू में बताया था कि स्कूल में वे काफी पॉपुलर थे। लड़कियां उन्हें खून से लिखा खत भेजती थीं। राजकुमार ने इंडस्ट्री में पैर जमाने के लिए काफी संघर्ष किया है। राजकुमार ने एक इंटरव्यू में शुरुआती संघर्ष के बारे में बताया कि ‘मुझे मुंबई में छोटे-मोटे विज्ञापन मिल जाते थे। कई ऐसे विज्ञापन भी, जो आपको कुछ टाइम बाद याद भी नहीं रहते थे। मैं किसी विज्ञापन में 10वें नंबर पर खड़ा रहता था। मैं तकरीबन 10,000 रुपए महीना कमा लेता था, लेकिन फिर भी कई दिन ऐसे थे, जब मेरे पास कुछ नहीं होता था। कई बार मुझे अपने दोस्त को फोन कर कहना पड़ा था, ‘क्या मैं खाना खाने आ सकता हूं’।

लव सेक्स और धोखा फिल्म से शुरु हुआ प्यार

इस बॉलीवुड अभिनेत्री से शादी करने वाले हैं राजकुमार रॉव, लव,सेक्स और धोखा से शुरू हुआ अफेयर

राजकुमार राव इस समय पत्रलेखा के साथ रिलेशनशिप में हैं। खबर है कि वह उन्हीं से शादी भी करेंगे। राजकुमार राव पिछले 9 वर्षो से पत्रलेखा को डेट कर रहे हैं। एक इंटरव्यू में इस जोड़ी ने बताया कि कैसे ये दोनों पहली बार एक-दूसरे को मिले थे। दोनों स्टारों की प्रेम कहानी फिल्म ‘लव सेक्स और धोखा से शुरू हुई थी। पत्रलेखा उनके दिल में बस गई।

राजकुमार राव ने मन ही मन ठान लिया था कि वह शादी करेगी तो पत्रलेखा से ही। पत्रलेखा अपने प्रति राजकुमार की दीवानगी को बयां करते हुए बताया कि एक बार राजकुमार मुझसे मिलने आ रहे थे। उन दिनों उनके पास पैसे बहुत नहीं थे। आगे पत्र लेखा कहती है कि राजकुमार बहुत ही अच्छे इंसान हैं। वह मुझसे बहुत प्यार करते हैं। वह बताती है कि एक समय ऐसा था जब राजकुमार पैसों की तंगी से जूझ रहे थे बावजूद इसके उन्होंने मुझे काफी महंगा बैग लाकर दिया था।

उस बैग से मेरा काफी लगाव था। लिहाजा उसे लेकर एक बार मैं विदेश गई। लेकिन बदकिश्मती से मेरा बैग वहां चोरी हो गया। लेकिन मैं तब हैरान रह गई जब सेम बैग मेरे घर पर मुझे रखा मिला। खबरों की माने तो पत्रलेखा ने राजकुमार को अपने पैरेंट्स से भी मिलवाया है। पत्रलेखा के पैरेंट्स ने इस जोड़ी को हरी झण्डी दे दी है।

Shukla Divyanka

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...

Leave a comment

Your email address will not be published.