केबीसी के सेट पर हुआ कुछ ऐसा अमिताभ बच्चन की भर आईं आंखे
//

केबीसी के सेट पर हुआ कुछ ऐसा अमिताभ बच्चन की भर आईं आंखे

मुंबई : सुशांत के मौत के बाद दर्शकों में बॉलीवुड के प्रति आक्रोश फूटा हुआ है. ऐसे में रिलीज हो रही फिल्मों को दर्शकों द्वारा बॉयकट किया जा रहा है. लेकिन टीवी के मंच पर दो रियलिटी शो “केबीसी” और “बिगबॉस” प्रसारित किया जा रहा है. लेकिन बिग-बॉस को इस बार पूरी तरह से बहिस्कार कर दिया गया. शो के शुरुआत में ही इसकी TRP में भारी गिरावट देखने को मिली वहीं रियलिटी शो “कौन बनेगा करोड़पति” को अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है. इस शो में आने वाले सारे प्रतिभागी शुरुआत से ही लोगों का मन मोह रही है.

देश में महामारी के इस संकट की घड़ी सबने अपने घर की स्तिथि को बताया जिससे पुरे देश से लोग भावुक हो गए साथ ही अमिताभ बच्चन भी उनके लिए बेहद भावुक हुए. आइए बताते हैं वो कौन से प्रतिभागी आए जिनकी कहानी से अमिताभ भावुक हो गए…..

पहली प्रतिभागी तेलंगाना से थीं जिन्होनें अपने पति को खो दिया और अब अकेले बच्चों का पालन-पोषण करतीं हैं

इस सप्ताह में अब तक 5 प्रतिभागी हॉट सीट पर बैठ चुके हैं. जिसमें से हॉट सीट की प्रतिभागी सबिता रेड्डी जो तेलंगाना की थी. जिन्होंने सोमवार को प्ले अलोंग राउंड को जीता और फिर हॉट सीट पर बैठी. इन्होनें 1 लाख 60 हज़ार रूपए खेल कर जीता. इनकी कहानी सुन कर अमिताभ बच्चन बेहद दुःख भरी थी. उन्होंने अपने पति को सालों पहले खो दिया था. उनकी हालात को देख कर अमिताभ बहुत दुखी हो गए थे. उनके बच्चे भी केबीसी के मंच पर दर्शक के रूप में मौजूद थे.

दूसरे प्रतिभागी राजस्थान से थे जो परिवार कि हालत के वजह से अपनी पढ़ाई पूरी ना कर सके

वहीं दूसरे प्रतिभागी गुजरात से एक कारपेंटर रघुनाथ राम हॉट सीट पर बैठे. उन्होंने अपने बारे में बताया कि परिवार की माली हालत खराब होने के वजह से वो अपनी पढ़ाई पूरी ना कर सके. वो केवल 9वीं कक्षा तक पढ़ाई किये थे. इसलिए उन्हें कुछ प्रश्नों को समझने में थोड़ी कठिनाई हो रही थी. रघुनाथ 19 सालों से कारपेंटर का काम कर रहे हैं और उन्हें अपने काम पर गर्व होता है. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने दिमाग का इस्तेमाल कर 6 लाख 40 हज़ार जीता. यह रकम उनके लिए बहुत बड़ी रकम है. उनकी कहानी ने भी अमिताभ बच्चन को भावुक कर दिया था.

इस प्रतिभागी के पिता देख नहीं सकते और माँ एक आंख से ही केवल देख सकती हैं

इस सीजन के दूसरे सप्ताह की यह खिलाड़ी की कहानी सबसे ज्यादा भावुक कर देने वाली थी. उस प्रतिभागी का नाम अस्तिमा माधव गोरे था जो महाराष्ट्र की रहने वाली थी. अस्तिमा के पिता देख नहीं सकते और उनकी माँ एक आंख से ही देख पाती है. परिवार में ऐसे हालत से वो हताश नहीं हुई बल्कि हमेशा एक बेटे की भांति अपने परिवार के साथ खड़ी रहती हैं. अस्मिता एक स्टूडेंट है और उनके भाई-बहन भी है. अस्मिता ने इस खेल में 12 लाख 50 हज़ार जीत कर ले गई. बता दें कि अस्मिता के माता-पिता दोनों वहां मौजूद थे. यहाँ तक कि अस्मिता जब अपने माँ-पिता के बारे में बता रही थी तब उनके पिता के आँखों में आँसू भी आ गए थे.