बॉलीवुड से एक और बुरी खबर: प्रोड्यूसर-डायरेक्टर जॉनी बक्शी का निधन

बॉलीवुड निर्माता-निर्देशक जॉनी बक्शी का शुक्रवार को देर रात निधन हो गया. 82 वर्षीय वरिष्ठ निर्देशक जॉनी बक्शी का निधन ह्रदय की गति रुक जाने की वजह से हुआ. बताया जा रहा है कि शुक्रवार की सुबह उनको सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी. जिसके बाद उन्हें उपनगर जुहू के आरोग्य निधि अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. इससे पहले उनकी करोना जांच भी करवाई गई थी, जिसमें उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी. बता दें कि बॉलीवुड निर्माता निर्देशक जॉनी बक्शी कई बड़ी बड़ी फिल्मों के निर्माता रह चुके हैं.

बॉलीवुड से एक और बुरी खबर: प्रोड्यूसर-डायरेक्टर जॉनी बक्शी का निधन

बेटी ने दी जानकारी

हम आपको बता दें कि जॉनी बक्शी के परिवार में उनके दो बेटे और उनकी एक बेटी प्रिया हैं. बेटी प्रिया ने बताया कि ”उनके पिता को शुक्रवार की सुबह से ही सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही थी. जब उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया तो उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. बाद में जब उनकी करोना की जांच करवाई गई तो रिपोर्ट नेगेटिव आई थी.” अस्पताल में ही देर रात कार्डियक अरेस्ट आ जाने की वजह से उनका निधन हो गया.

बॉलीवुड से एक और बुरी खबर: प्रोड्यूसर-डायरेक्टर जॉनी बक्शी का निधन

बॉलीवुड सितारों ने जताया दुख

फिल्म निर्माता निर्देशक बक्शी के निधन पर बॉलीवुड के कई सितारों ने दुख जताया है. शबाना आजमी, कबीर बेदी, कुणाल कोहली ने भी सोशल मीडिया पर दुख जताया. सोशल मीडिया पर अनुपम खेर ने दुख जताते हुए लिखा कि,

” डियर जॉनी बक्शी के निधन की खबर के बारे में जानकर बहुत ही ज्यादा दुख में हूं. मुंबई में वह मेरे दोस्त, समर्थक और मोटिवेटर के रूप में जीवन का अहम हिस्सा थे. उनकी खिलखिलाती हुई हंसी एक संक्रमण की तरह थी,जो आसपास के सभी लोगों को भी खुश कर देती थी. भगवान तुम्हारी आत्मा को शांति दे. अलविदा मेरे दोस्त”.

हम आपको बता दें कि निर्माता-निर्देशक बख्शी के अंतिम संस्कार में उनके परिवार के सभी सदस्य वहां पर मौजूद थे. उनका अंतिम संस्कार शनिवार को शव दाह गृह में कर दिया गया.

 

बॉलीवुड से एक और बुरी खबर: प्रोड्यूसर-डायरेक्टर जॉनी बक्शी का निधन

फिल्म निर्माता के साथ-साथ अच्छे एक्टर भी थे बख्शी

हम आपको बता दें कि बख्शी ने अपने करियर में कई फिल्मों का निर्माण किया है जिसमें से, ‘मंजिलें और भी हैं’ फिल्म 1974 में आई थी, विश्वासघात 1977, ‘रावण’ 1984 में आई इसके अलावा मेरा दोस्त, मेरा दुश्मन 1984, और ‘फिर तेरी कहानी याद आई’ 1993 का फिल्म निर्देशन भी किया. भैरवी 1996 और ‘कजरारे’ 2010 में आई थी. अब अगर हम बात करते हैं कि बक्शी जी ने किन-किन फिल्मों में एक्टिंग की थी. जी हां बक्शी जी ने ‘पापा कहते हैं’ और – जैसी कई फिल्मों में अच्छी खासी एक्टिंग कर चुके हैं.

 

बॉलीवुड से एक और बुरी खबर: प्रोड्यूसर-डायरेक्टर जॉनी बक्शी का निधन

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...

Leave a comment

Your email address will not be published.