नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर
/

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

इन दिनों सुशांत की मौत के बाद बॉलीवुड इंडस्ट्री में नपोटिज्म ( भाई- भतीजावाद ) को लेकर बहस छिड़ी हुई है। बॉलीवुड में आउटसाइटर एक्टर को काफी स्ट्रगल करना पड़ता है ये बात किसी से छिपी नहीं है। जैसे कि अभिनेता सुशांत राजपूत के परिवार से कोई बॉलीवुड में नहीं था, इसके बावजूद उन्होंने खूब नाम और शौहरत कमाई। बॉलीवुड जगत में आज भी ऐसे सितारे हैं, जिनके बैंकग्राउंड से कोई न कोई बड़ा सितारा रहा है।

ये बात भी सच है कि- फिल्मी सितारों के बच्चों को फिल्मों में ज्यादा दिक्कतों का सामना करना नहीं पड़ता हैं। इस बात को सिरे से खारिज नहीं किया जा सकता है। सिर्फ फिल्मी दुनिया से तालुक रखना का मतलब ये जरूरी नहीं कि फिल्मों की दुनियों में पिता-बडे़ भाई, मां की तरह आपकों भी सफलता मिले। तो आइए नजर डालते हैं ऐसे कुछ फिल्म स्टार्स पर जिनके परिवार के सदस्य बड़े सितारे बनकर उभरे, लेकिन बड़े पर्दे पर पूरी तरह फ्लॉप साबित हुए। दर्शकों के बीच बड़े सितार के बच्चों होने के बावजूद भी वो अपनी अलग पहचान नहीं बना पाए।

बिग बी अभिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

बॉलीवुड इंडस्ट्री में अभिषेक बच्चने इसी साल 20 साल पूरे होने जा रहे है। अभी तक अपने करियर उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उनकी छवि हमेशा दर्शकों के बीच अमिताभ बच्चन के बेटे के रूप में उभरी है। अभी तक फिल्मी सफर में बोल बच्चन, दोस्ताना, धूम 2, सरकार, बंटी बबली, पा, कभी अलविदा न कहना, दस 8 फिल्मे ही हिट दे पाए हैं।

उदय चोपड़ा-

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

अगर केवल भाई भतीजावाद पर कामयाबी मिलती तो यश चोपड़ा के छोटे बेटे उदय चोपड़ा सबसे बेहतरीन कलाकारों में से एक होते। उन्होंने साल 2000 फिल्म मोहब्बतें से अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की, लेकिन फ्लॉप हुए। आखिरी बार उदय को आमिर की फिल्म धूम 3 में देखा गया था। फिलहाल वह यशराज फिल्मस प्रोडक्शन का काम देख रहे हैं।

अध्ययन सुमन

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

एक्टर शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन ने साल 2008 में हाल ए दिल फिल्म से डेब्यू किया था। इसके बाद वह एक के बाद एक द मिस्ट्री कंटिन्यू, जश्न, हार्जलेस, इश्क क्लिक, जैसी फिल्मों में नजर आए। लेकिन दर्शको के बीच उनके अभिनय को ज्यादा पसंद नहीं किया गया।

तनीषा मुखर्जी

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

वेटरन एक्ट्रेस तनुजा की छोटी बेटी और काजोल की बहन तनीषा मुखर्जी परिवार का बॉलीवुड में फिल्मी बैंकग्राउंड होने बावजूद भी कोई खास सफलता नहीं मिल पाई। बता दें कि- उन्होंने साल 2003 में shhhhh से बॉलीवुड में एंट्री की थी।

फरदीन खान

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

अपनी आवाज में दम रखने वाले एक्टर फिरोज खान के बेटे फरदीन खान भी फिल्मी करियर ने हाथ अजमा चुकें फ्लॉप साबित हुए। उनके डैडी फिरोज खान ने उन्हें साल 1998 में लांच किया था। लेकिन फिल्मी दुनिया में सक्सेस नहीं मिल पाई।

जाएद खान

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

तेज, मैं हूं ना, मिशन इस्तांबुल जैसी फिल्मों में सपोर्टिंग रोल मिलने के बावजूद जाएद खुद को बतौर बॉलीवुड में पैर नहीं जमा पाए। ये भी खबर सामने आ रही है कि उनके पिता संजय खान जल्दी उनको दोबार फिल्मी करियर में उतारने की तैयारी कर रहे हैं।

ईशा देओल

नेपोटिज्म भी नहीं बचा सका इन बॉलीवुड किड्स का करियर, बुरी तरह हुए फ्लॉप

सुपरस्टार धर्मेंद्र और शोले की बंसती हेमा मालिनी की बेटी ईशा भी अपने फिल्मी करियर में कोई बड़ी कामयाबी हासिल नहीं कर पाई। बता दें कि- ईशा देओल ने साल 2002 में मूवी मेरे दिल से पूछे से डेब्यू किया था। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। लेकिन बॉलीवुड में एक अलग स्थान स्थापित करने में नाकाम साबित हुई।