गरीब हो गये थे ये सितारे, एक को मांगनी पड़ी थी सड़को पर भीख
/

धनवान होने के बाद कंगाल हो चुके थे ये सितारे, एक को मांगनी पड़ी थी सड़को पर भीख

बॉलीवुड की दुनिया जितनी ग्लैमरस है उतनी ही दुखदाई भी है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद हिंदी सिनेमा का काला चिट्ठा आप सबके सामने है।

मुम्बई– बॉलीवुड की दुनिया जितनी ग्लैमरस है उतनी ही दुखदाई भी है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद हिंदी सिनेमा का काला चिट्ठा आप सबके सामने है। यहां आकर कईयों को नाम, फेम, पैसा सारे एशो-आराम मिले तो कई लोग ऐसे भी हुए जिन्हें मंजिल और मुकाम दोनों हासिल हुआ फिर भी वे या तो जमीं पर आ गिरे या फिर दुनिया छोड़कर ही चल बसे।

जी हां, इस ग्लैमर वर्ल्ड में कब कोई अर्श से फर्श पर आ जाए किसी को कुछ पता नहीं चलता। आइए हम आपको कुछ ऐसे सितारों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने गरीबी में दम तोड़ दिया या फिर मुफलिसी में अपना जीवन में गुजार रही हैं।

अचला सचदेव

बॉलीवुड की मां के रूप में फेमस हुईं अचला सचदेव किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। 1965 की हिट फिल्म ‘वक्त’ में बलराज साहनी की पत्नी की भूमिका निभाने वाली अचला को आज भी याद किया जाता है। इस फिल्म का गाना ‘ऐ मेरी जोहराजबीं’ सुनकर लोग झूम उठते हैं। एक इंटरव्यू में एक्ट्रेस नंदा ने बताया था कि उनका बेटा कभी-कभी ही उनसे मिलने आता था। आखिरी समय में उनके पास इतने पैसे भी नहीं थे कि वो अपना इलाज करवा सकें। आखिरकार साल 2012 में वो जिंदगी की जिंदगी हार गईं और उनका निधन हो गया।

गीतांजलि नागपाल

गीतांजलि नागपाल 90 के दशक में मॉडलिंग की दुनिया में बहुत बड़ा नाम थीं। उन्होंने पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन के साथ रैंप वॉक तक किया था। गीतांजलि एक आर्मी अफसर की बेटी थी। उन्होंने, लेडी श्री राम कॉलेज से पढ़ाई की थी।

गीतांजलि को शराब और ड्रग्स की लत लग गई थीं। इसके बाद वह इस लत को शांत करने के लिए बतौर नौकरानी एक घर में भी काम करने लगीं। इसके अलावा भीख मांगने को भी मजबूर हो गईं। हालत इतने बिगड़ गए कि वह सड़कों और पार्क में रातें गुजारने के लिए बेबस हो गईं थीं।

परवीन बॉबी


परवीन बॉबी और अमिताभ बच्चन की जोड़ी ने कई हिट फ़िल्में दीं, जिनमें ‘अमर अकबर एंथोनी’, ‘दीवार’, ‘शान’, ‘खुद्दार’, ‘काला पत्थर’, ‘सुहाग’, ‘नमक हलाल’ जैसी फिल्में शामिल हैं। परवीन बॉबी की 20 जनवरी, 2005 को 55 साल की उम्र में मौत हो गई थी। हालांकि, उनकी डेड बॉडी 22 जनवरी, 2005 को दक्षिण मुंबई के एक फ्लैट में मौत के 3 दिन बाद पाई गई थी।

उनकी डेड बॉडी तीन दिन तक घर में पड़ी सड़ती रही थी। वे सिजोफ्रेनिया नाम की मानसिक बीमारी से पीड़ित थीं। परवीन डायबिटीज और गैंगरीन से भी पीड़ित थीं। इस वजह से उनकी किडनी और शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

मिताली शर्मा

25 साल की मिताली दिल्ली की रहने वाली हैं। मिताली भोजपुरी फिल्मों के साथ-साथ कुछ मॉडलिंग भी कर चुकी हैं। काम न मिलने के कारण उनकी आर्थिक हालत बद से बदतर होती चली गई। यहां तक कि उनकी दिमागी हालत भी ऐसी हो गई कि वो भीख मांगने लगी और चोरी करने लगी। मुंबई पुलिस ने लोखंडवाला की सड़कों पर उन्हें चोरी करते हुए पकड़ा था।