17 सितंबर को सुलझेगी सुशांत के मौत की गुत्थी
/

17 सितंबर को सुलझेगी सुशांत के मौत की गुत्थी, CBI सौंपेगी रिपोर्ट

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के केस का मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था, जिसके बाद से लगातार सीबीआई जांच करने में लगी हुई है. सीबीआई वालों ने यह मामला मर्डर के एंगल से देखते हुए कई जगह पर छापेमारी भी की. इसके अलावा सीबीआई जांच एजेंसी वालों ने फरेंसिक एक्सपर्ट्स की भी सहायता ली थी, जिससे यह साबित हो सके कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या हुई है, ना कि उन्होंने आत्महत्या की.

17 सितंबर को आयोजित करवाई जाएगी मीटिंग

एक रिपोर्ट के मुताबिक सुशांत सिंह राजपूत के केस में यह कहा गया है कि, फॉरेंसिक एक्सपर्ट की मेडिकल बोर्ड की मीटिंग 17 सितंबर को आयोजित की जाएगी. इस मीटिंग में सारी रिपोर्ट को प्रेजेंट किया जाएगा और सुशांत के मर्डर वाले एंगल पर गहराई से चर्चा की जाएगी. बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में फॉरेंसिक जांच करवाने के लिए एम्स में डॉक्टरों की एक टीम भी तैयार की गई है. यह बताया जा रहा है कि आप जो भी रिपोर्ट सामने आएगी वह फाइनल रिपोर्ट मानी जाएगी और उसी के हिसाब से आगे कार्यवाही की जाएगी.

 

इन बॉलीवुड सितारों के नाम आए सामने

सीबीआई के अलावा सुशांत केस में कई और जांच एजेंसियां भी काम कर रही हैं. सीबीआई और एनसीबी के अलावा ईडी जांच एजेंसी भी इस मामले के जांच में लगी हुई है. ड्रक्स मामला सामने आने के बाद NCB की टीम भी लगातार जांच कर रही है. ड्रक्स मामला सामने आने के बाद रिया चक्रवर्ती ने भी कई राज उगले थे, जिसमें से उन्होंने बॉलीवुड के कई सितारों के नाम भी शामिल किए.

ड्रग्स मामले में अभी तक आरोपी शौविक, दीपेश सावंत, सैमुअल मिरांडा, जैद विलात्रा और अब्दुल बासित परिहार और अन्य कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. सभी अपराधियों को गिरफ्तार किए जाने के बाद बॉलीवुड के जिन सितारों के नाम सामने आए हैं, उसमे बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान और रकुल प्रीत सिंह का नाम भी शामिल है. हैरान कर देने वाली इस जानकारी के मिलने के बाद जांच एजेंसियों ने इस मामले पर भी जांच करना शुरू कर दिया है.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद फॉरेंसिक एक्सपर्ट के द्वारा जांचें करवाई गई थी. इसकी सारी रिपोर्ट जल्द ही सामने आने वाली हैं. अब सुशांत सिंह राजपूत केस के मामले से जुड़ी सारी जानकारी और सच्चाई रिपोर्ट के आधार पर ही साबित होगी. आखिरी रिपोर्ट आ जाने के बाद किसी तरह की कोई शक की गुंजाइश नहीं रहेगी.