सिद्धार्थ पिठानी था साजिश में शामिल? मुंबई पुलिस पर कहा.....
/

सिद्धार्थ पिठानी था साजिश में शामिल? मुंबई पुलिस पर कहा…..

मुंबई: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मौत के मामले में सीबीआई की जांच पिछले पांच दिनों से लगातार जारी है। साथ ही सीबीआई की टीम सुशांत सिंह की मौत का सच तलाशने में पूरी तरह से एक्शन में है। मामले में रिया चक्रवर्ती के साथ ही उनके दोस्त सिद्धार्थ पिठानी पर भी शक की सुई टिकी हुई है। वहीं सुशांत सिंह की एक फैमिली फ्रेंड ने दावा करते हुए बताया है कि सुशांत की मौत के पांच दिन बाद उन्होंने सिद्धार्थ पिठानी से बात की थी। इस बातचीत में पिठानी ने उनसे कहा था कि मुंबई पुलिस से बात करना उसके लिए एक थेरेपी लेने जैसा है।

सुशांत की फैमिली फ्रेंड स्मिता का कहना है कि सिद्धार्थ पिठानी ने मुझसे कहा था कि अपने होमटाउन (हैदराबाद) जाने से पहले वह मुंबई पुलिस को तीन बार स्टेटमेंट दे चुके थे। आगे कहा कि मुंबई पुलिस से बात करना उसके लिए राहत जैसा था, ऐसे जैसे कि वह कोई थेरेपी ले रहा हो। जैसे कि उसके सीने से बोझ हट गया हो। स्मिता के अनुसार, सिद्धार्थ पिठानी मुंबई पुलिस सुशांत के केस मामले को हैंडल करने के ढंग से काफी ज्यादा खुस था।  सिद्धार्थ की बाते सुनकर स्मिता काफी  हैरान रह गई थीं।

सुशांत की मौत के समय ये लोग थे घर पर मौजूद

सुशांत का शव जिस फ्लैट में लटका हुआ मिला था, उस दौरान वहां चार लोग मौजूद थे। जिसमें सिद्धार्थ पिठानी, दीपेश सावंत, नीरज सिंह और  केशव हैं। नीरज सिंह ने एक बातचीत में बताया था कि सुशांत ने सुबह नाश्ता किया था। लेकिन जब 10:00-10:30 बजे स्टाफ उनसे लंच का मेन्यु पूछने गया, तो उन्होंने दरवाजा नहीं खोला। जिसके करीब 1 घंटे बाद सिद्धार्थ को कुछ संदेह हुआ, फिर उसने सुशांत की बहन मीतू को फोन किया और चाबी वाले को बुलाकर लॉक खुलवाया।

सुशांत को पंखे से लटकता देख सिद्धार्थ घबरा गया था फिर उसने सुशांत को पंखे से नीचे उतारा और मुंबई पुलिस को इसकी सूचना दी।आपको बता दें कि सिद्धार्थ पिठानी रविवार को हैदराबाद से मुंबई पहुंचा, जिसके बाद सीबीआई ने उससे पूछताछ शुरू की। दो दिन लगातार पूछताछ के बाद तीसरे दिन भी सीबीआई ने सिद्धार्थ को बुलाया।