दशरथ मांझी के परिवार ने पैसे लेने से किया इंकार तो सोनू सूद ने किया कुछ ऐसा....
/

“दशरथ मांझी का परिवार पैसे नहीं ले सकता” कह परिवार ने सोनू सूद के पैसे किए वापस

मुंबई: माउंटेन मैन दशरथ मांझी को कौन नहीं जानता… वो शख्स जिसने पहाड़ काट के रास्ता बना दिया था। उन्होंने अपना प्रेम साबित करने के लिए पहाड़ों का सीना चीर दिया था। लेकिन ये वक्त दशरथ मांझी के परिवार के लिए गरीबी की मार लेकर आया है। उनके परिवार को पैसों की सख्त जरूरत है। ऐसे में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद उनकी मदद को आगे आए हैं।

सोनू सूद को मिली थी खबर

दरअसल अभिनेता सोनू सूद को कहीं से दशरथ मांझी के परिवार में ग़रीबी के कारण बुरी स्थिति में है और उनकी परपोती बुरी तरह घायल हो गई है, जिसके बाद दशरथ मांझी के परिवार की मदद के लिए मदद करने की ठानी और इसलिए अपनी टीम को दशरथ मांझी के घर भेजा, लेकिन वहां पहुंच कर टीम को हैरानी हुई।

परिवार ने नही ली मदद‌

दरअसल जब सोनू सूद की टीम के सदस्य दशरथ मांझी के घर पहुंचे तो उनके परिवार वालों ने मदद नहीं ली। खबरों के मुताबिक दशरथ मांझी के नाम के सम्मान को बनाए रखने के लिए परिजनों ने पैसे नहीं लिए। जिसके बाद सोनू सूद की टीम ने परिवारवालों के लिए राशन ख़रीद परिजनों को दिया जिसमें आटा, दाल, चावल, तेल और आलू जैसी चीजें शामिल हैं।

सोनू सूद ही उठाएंगे खर्च

पैसे न लेने के चलते सोनू सूद की टीम ने बड़ा वादा करते हुए कहा है कि जब भी वे लोग परपोती का ऑपरेशन या इलाज़ कराने जाएं तो बस फोन पर डॉक्टर से बात करा दें उनके इलाज का पूरा खर्च सोनू सूद ही उठाएंगे।

10 घंटे में दिया ट्रैक्टर

गौरतलब है कि सोनू सूद कोरोनावायरस के कारण हुए लॉकडाउन के दौरान लोगों के लिए मसीहा बन गए हैं। उन्होंने हजारों प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घरों त पहुंचाया है। यहीं लोगों की पैसे से भी लोगों की मदद की है। कुछ दिनों टहले ही जब एक किसान अपनी बेटियों से खेत में हल चलवाने को मजबूर था, तो उस किसान को आंध्र प्रदेश में 10 घंटे में सोनू सूद ने नया चमचमाता ट्रैक्टर दिया था, जिसके बाद उन्होंने मदद की एक नई इबारत लिख दी थी।