इस खतरनाक विलेन की शक्ल से हीरो भी खाते थे खौफ, बीमारी के चलते ऐसा हो गया था चेहरा

90 दशक की फिल्मों में एक से बढ़कर एक खतरनाक विलेन को देखा गया, जिन्हें देखकर बड़े-बड़े हीरो भी घुटने टेकते थे। उसी दौर में एक ऐसा विलन जो कभी ‘अन्ना’ बन कर दहशत फैलाना, तो कभी ‘कर्नल चिकारा’ बन कर हीरो को भी खौफ से डरा देता था। उस विलेन की शक्ल देखकर ही लोग खौफ खाने लगते थे।

जी हां, हम बात कर रहे हैं, हिंदी सिनेमा के दमदार अभिनेता रामी रेड्डी के बारे में। इन्होंने अपने शानदार अभिनय से बॉलीवुड में अलग ही पहचान बनाई थी। 90 दशक में जब भी किसी विलेन का नाम लिया जाता है तो रामी रेड्डी का नाम सबसे पहले आता है।

इस खतरनाक विलेन की शक्ल से हीरो भी खाते थे खौफ, बीमारी के चलते ऐसा हो गया था चेहरा

250 से भी अधिक फिल्मों में किया काम

रामी रेड्डी का जन्म आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में वाल्मिकीपुरम गांव में हुआ। उनका पूरा नाम गंगासानी रामी रेड्डी था। उन्होंने हैदराबाद के उस्मानिया यूनिवर्सिटी से पढ़ाई पूरी की थी और पत्रकारिता की भी डिग्री हासिल की। फिल्मों की दुनिया में कदम रखने से पहले वह एक पत्रकार हुआ करते थे।

उन्होंने शुरुआत तो तेलुगु फिल्मों से की थी, लेकिन जब उन्हें बॉलीवुड के लिए ऑफर आने लगे तो उन्होंने कुबूल कर लिए और फिर यहीं पर अपनी पहचान बना ली। उन्होंने हिंदी फिल्मों में कई तरह के किरदार निभाए हैं। सबसे ज्यादा मशहूर वह अपने विलेन के किरदारों को लेकर ही हुए। उन्होंने लगभग 250 से अधिक फिल्मों में काम किया।

इस खतरनाक विलेन की शक्ल से हीरो भी खाते थे खौफ, बीमारी के चलते ऐसा हो गया था चेहरा

ज्यादातर फिल्मों में किया विलेन का रोल

रामी रेड्डी ने 1990 में आई फिल्म ‘प्रतिबंध’ में विलेन का किरदार अदा किया था। उन्होंने इस फिल्म में इतना दमदार अभिनय दिखाया कि, लोग उन्हें आज भी याद करते हैं। इस फिल्म में विलेन का किरदार निभाने के बाद जब भी वह फिल्मी पर्दे पर आते तो लोग दहशत खाते थे। हर एक फिल्म में उनका लुक इतना ज्यादा भयानक होता था कि लोग उनकी शक्ल देखते ही डर जाते। इसके बाद ज्यादातर वह बॉलीवुड की सभी फिल्मों में विलेन का किरदार करते हुए नजर आए।

इस खतरनाक विलेन की शक्ल से हीरो भी खाते थे खौफ, बीमारी के चलते ऐसा हो गया था चेहरा

बीमारी के चलते कहा दुनिया को अलविदा

रामी रेड्डी की जिंदगी में एक ऐसा भी मोड़ आया, जब वह एक गंभीर बीमारी से जूझने लगे। उनके लिवर में काफी समस्या हो गई थी, जिसकी वजह से उनकी तबीयत खराब रहती थी। वह कुछ समय के लिए चकाचौंध से गायब हो गए थे, लेकिन जब अचानक एक इवेंट में दिखाई दिए तो सब उन्हें देखकर हैरान रह गए, क्योंकि उस समय वह काफी कमजोर और दुबले हो गए थे।

इसी बीमारी के जूझते हुए वह 14 अप्रैल साल 2001 में दुनिया से अलविदा कह गए। आज सिर्फ बॉलीवुड इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में उनके दमदार अभिनय के लिए उन्हें याद किया जाता है।

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...