सुशांत केस में सुधीर गुप्ता के रिपोर्ट पर उठ रहे सवाल, इससे पहले भी रहे हैं विवादों में

सुशांत के केस में एम्स की टीम ने मर्डर की बात को ही खत्म कर दिया है। कुछ समय पहले खबर आई थी कि एम्स के पैनल चीफ ने सुशांत के केस में हत्या के ऐंगल को खत्म कर दिया है, जिससे उन्होंने ये बात  साफ की कि सुशांत का केस आत्महत्या का केस है। सूत्रों के अनुसार एम्स की फॉरेंसिक टीम को लेकर एक खुलासा हुआ है, जिसमें एक एम्स के एक स्टेटमेंट की बात की गई है।

तीन दिन पहले कही गई थी ये बात

सुशांत केस में सुधीर गुप्ता के रिपोर्ट पर उठ रहे सवाल, इससे पहले भी रहे हैं विवादों में

एम्स की टीम की तरफ से तीन दिन पहले ये बात बोली गई थी कि सुशांत केस में उनका जो कन्क्लूजन है वो सीबीआई को दि दिया है,लेकिन इसका कन्क्लूजन क्या है इसको बाहर नहीं बता सकते है।क्योंकि जांच अभी चल रही है ये मामला कोर्ट में है। इसके अलावा यह भी बोला कि मीडिया में जो भी स्टोरी आ रही है उसपर हम बिल्कुल भी भरोसा ना करते हैं ना तवज्जो देते हैं। ये स्टेटमेंट एम्स की चीफ डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने तीन दिन पहले दिया था।

इससे पहले भी हाई प्रोफाइल केस देख चुके हैं डॉक्टर सुधीर

सुशांत केस में सुधीर गुप्ता के रिपोर्ट पर उठ रहे सवाल, इससे पहले भी रहे हैं विवादों में

डॉक्टर सुधीर गुप्ता का पास्ट बहुत ही कंट्रोवर्सी भरा है। इसके पहले उन्होंने कई हाई प्रोफाइल केसेस को सॉल्व किया है जिसमें सुनंदा पुष्कर और आरुषी मर्डर केस शामिल है, लेकिन इन सभी केस में उनकी रिपोर्ट हमेशा कंट्रोवर्सियल ही थी, इतना ही नहीं सुधीर गुप्ता ने सुनंदा पुष्कर की मौत को नैचुरल डेथ बता दिया था, लेकिन बाद में डॉक्टर ने खुद एक पत्र लिखकर ये बात बोली थी कि उनके ऊपर पॉलिटिकल प्रेशर था, जिसके कारण उन्होनें इस तरह की रिपोर्ट दी।

इसका मतलब है की सुधीर गुप्ता हमेशा कंट्रोवर्सीज़ का हिस्सा रहे हैं। औऱ हमेशा रिपोर्ट को गलत बताते रहे हैं। अब इस बारे में क्या कहा जाए पता नहीं, क्या एम्स की टीम में ही कोई है जो गलत इंफार्मेशन दे रहा है? आखिर क्या है सच?

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...

Leave a comment

Your email address will not be published.