कंगना रानौत बुरी फंसी, लगा ये गंभीर आरोप, F.I.R दर्ज
//

कंगना रानौत बुरी फंसी, लगा ये गंभीर आरोप, F.I.R दर्ज

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रानौत का विवादों से पुराना नाता है. कंगना रानौत हमेशा अपने विवादित बयानों और बेबाक अंदाज की वजह से खबरों में रहती हैं. हालांकि कंगना इस बार किसी धार्मिक भावनाएं भड़काने की वजह से सुर्ख़ियों में हैं. बांद्रा मजिस्ट्रेट कोर्ट ने एक्ट्रेस कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर  करने के लिए आदेश दिए हैं. कंगना पर धार्मिक भावनाएं भड़काने, कलाकारों को हिन्दू-मुसलमान में बांटने और सामाजिक द्वेष को बढ़ावा देने का आरोप लगा है.

ऐसे में याचिकाकर्ता मुन्ना वराली ने कंगना के पिछले कुछ वक्त में किए गए ट्वीट का हवाला देते हुए उनके खिलाफ जांच की मांग की है. याचिकाकर्ता ने कंगना के ट्वीट और चैनलों पर दिए बयानों में हिन्दू कलाकार और मुस्लिम कलाकार में बांटने, सामाजिक द्वेष बढ़ाने का आरोप लगाते हुए याचिका की थी. इस मामले में कंगना की बहन रंगोली को भी आरोपी बनाया गया है. कंगना के मुंबई के हालात की तुलना पीओके से करने की टिप्पणी का भी शिकायतकर्ता ने उल्लेख किया है.

 

View this post on Instagram

 

Sun kissed in the mountains 🌞

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut) on

वहीं याचिकाकर्ता का कहना है कि कास्टिंग डायरेक्टर के तौर पर उसने फिल्म इंडस्ट्री के तमाम हिन्दू और मुस्लिम फिल्म निर्देशकों के साथ काम किया, लेकिन कभी कोई भेदभाव महसूस नहीं किया. हालांकि  सोशल मीडिया के जरिए कंगना लगातार बॉलीवुड इंडस्ट्री के कलाकारों को हिन्दू और मुस्लिमों के आधार पर बांटने का प्रयास कर रही हैं. वे बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री को ड्रग्स का लती, हत्यारा और भाई-भतीजावाद में लिप्त भी बता चुकी हैं. ये ट्वीट बॉलीवुड के भीतर और आम जनता के में अलग भावना पैदा कर रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक, कंगना ने पालघर में हिन्दू साधुओं की हत्या और बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) को बाबर सेना कहकर भी उन्होंने भावनाएं भड़काने का काम किया. जमातियों पर देश में कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाकर भी सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई है. मुन्नावराली ने कंगना के उस ट्वीट का भी हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा था, “उन लोगों ने मराठा गौरव पर एक भी फिल्म नहीं बनाई. इस्लाम के नियंत्रण वाली इस इंडस्ट्री में मैंने अपनी जिंदगी और करियर खतरे में डाला है. मैंने शिवाजी और लक्ष्मीबाई पर फिल्म बनाई है.”

उनके मुताबिक, ऐसे बयान हिन्दू और मुस्लिम कलाकारों के बीच घृणा को बढ़ाने का काम कर रहे हैं. वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ कंगना के बयान का भी याचिकाकर्ता ने उल्लेख किया है.

View this post on Instagram

Good morning ☀️

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut) on