कंगना रनौत का संजय राउत को करारा जवाब, मुंबई POK है क्या?
/

बॉलीवुड की ‘पंगा क्वीन’ का संजय राउत को करारा जवाब, कहा- मुम्बई पीओके है क्या?

बॉलीवुड 'क्वीन' कंगना रनौत बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए जानी जाती हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में कंगना रनौत खुलकर बातचीत कर रही हैं।

मुम्बई- बॉलीवुड ‘क्वीन’ कंगना रनौत बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए जानी जाती हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में कंगना रनौत खुलकर बातचीत कर रही हैं। इसके साथ ही कंगना ने मुंबई पुलिस पर भी कई बार सवाल उठाए हैं। कंगना और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। कंगना रनौत ने संजय राउत पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। कंगना का कहना है कि संजय राउत ने उन्‍हें खुलेआम धमकी दी है कि वह मुंबई वापस न लौटें।

कंगना ने दिया राउत को करारा जवाब

कंगना ने राउत को जवाब देते हुए कहा,

‘शिवसेना नेता संजय राउत ने मुझे खुली धमकी दी है और मुंबई वापस न आने के लिए कहा है। पहले मुंबई की सड़कों पर आजादी के नारे लगे और अब खुली धमकी मिल रही है। आखिर मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) जैसा क्यों महसूस कर रही है?’

आपको बता दें कि, अभिनेत्री ने कहा था कि उन्हें फिल्म माफिया से ज्यादा शहर की पुलिस से डर लगता है। मुंबई पुलिस को लेकर उनके द्वारा दिए गए बयान को लेकर शिवसेना सांसद ने कहा कि यदि उन्हें मुंबई में डर लगता है तो उन्हें वापस नहीं आना चाहिए। अब इस पर कंगना ने जवाब दिया है।

संजय राउत पहले भी दे चुके हैं विवादास्पद बयान

संजय राउत इससे पहले भी सुशांत केस में कई बार विवादास्पद बयान देकर सुर्खियों में रहे हैं। संजय राउत आरोप लगाया था कि सुशांत के पिता से संबंध अच्छे नहीं थे। पिता ने दूसरी शादी कर ली थी जिस सुशांत ने स्वीकार नहीं किया था। पिता से उसका भावनात्मक संबंध शेष नहीं बचा था।

वहीं जब सुशांत केस में जब बिहार बनाम महाराष्ट्र की स्थिति बन गई थी तो संजय राउत ने कहा था कि मुंबई पुलिस जांच के लिए पूरी तरह सक्षम थी, इसमें सीबीआई जांच की जरूरत नहीं थी। मगर बिहार चुनाव की वजह से मामले में राजनीति हो रही है। दूसरी और राउत के निशाने पर बिहार के डीजीपी भी रहे उनको लेकर भी बेहद विवादास्पद बयान दे डाला।

राउत ने कहा कि बिहार के डीजीपी किस बात से इतना खुश हैं जो नाच-नाच कर सब जगह बता रहे थे। वर्दी की एक गरिमा होती है, उनके हाथ में बस बीजेपी का एक झंडा होना बाकी रह गया था।