मुकेश छाबड़ा ने बताया मुझे पता है क्यों रिया मुझे फंसा रही है
/

मुकेश छाबड़ा ने बताया मुझे पता हैं क्यों रिया मुझे फंसाना चाहती है

मुंबई : सुशांत सिंह राजपूत केस में ड्रग्स मामला सामने आने के बाद एनसीबी ने अपनी जाँच पड़ताल के बाद रिया चक्रवर्ती समेत अन्य कई लोगों को अब तक गिरफ्तार कर लिया है. रिया ने ड्रग्स मामले में कई बड़े नामों का खुलासा भी किया था. जिसमें नवाब खानदान की बेटी सारा अली खान, अभिनेत्री रकुल प्रीत सिंह, फैशन डिज़ाइनर और दिल बेचारा के डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा का नाम ड्रग लिस्ट में शामिल हैं, लेकिन मुकेश छाबड़ा अपने ऊपर लगे आरोप को मानने से इंकार कर रहे हैं. तो चलिए हम आपको जानकारी देते हैं कि आखिर मुकेश इस मामले में क्या कहना चाहते हैं……

मुकेश का कहना है कि रिया उनसे बदला ले रही

मुकेश ने अपनी एक बातचीत के दौरान आरोप को मानने से इंकार करते हुए कहा कि

“रिया मुझसे बदला ले रही है, क्योंकि मैंने उनका सपोर्ट नहीं किया। दरअसल, मैंने फैसला किया था कि इस मामले पर मैं खामोश ही रहूंगा, लेकिन अब रिया ने मेरा नाम लेकर ठीक नहीं किया और मुझे अपने बचाव में बोलना पड़ा। रिया को लगता है कि ऐसा करने से उन्हें मदद मिलेगी, लेकिन यह ठीक नहीं है. मेरा ड्रग्स से कोई लेना-देना नहीं है.”

रिया ने कहा “सुशांत को पार्टी में लेकर जाते थे और कई तरह के ड्रग्स की जानकारी दी”

बता दें कि रिया ने एनसीबी के सामने एक और बड़ा नाम लिया है. इससे पहले भी रिया सारा अली खान, रकुलप्रीत सिंह, सीमोन खंभाटा, रोहिणी अय्यर और मुकेश छाबड़ा सहित 25 मशहूर हस्तियों का नाम लेकर कहा है कि ये लोग भी ड्रग्स लिया करते थे.

फिल्म डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा का नाम लेते हुए रिया ने बयान दिया है कि “वो सुशांत को कई ड्रग्स पार्टीज में लेकर गए जहां उसे कोकेन, मारूआना और एलएसडी दिया गया”.

साथ-ही रिया ने यह भी कहा कि “ये सारी जानकारी सुशांत ने खुद उन्हें दी थी. इसके अलावा एक्ट्रेस के साथ फिल्म इंडस्ट्री में किस तरह गलत बर्ताव किया जाता है, इसके बारे में भी बताया.

फिल्मी सितारों पर लटक रही है एनसीबी की तलवार

रिया चक्रवर्ती, मुंबई के भायखला जेल में बंद हैं. रिया ने सारा अली खान, रकुल प्रीत सिंह, सीमोन खंभाटा, रोहिणी अय्यर और मुकेश छाबड़ा सहित बॉलीवुड के 25 और बड़े सितारों के नाम का खुलासा ड्रग्स मामले में किया है. इस समय पुरे इंडस्ट्री में हलचल मची हुई है कि कब उनके पास एनसीबी का समन आ जाये. इन सभी पर एनसीबी की तलवार लटक रही है.