सुशांत के कॉल रिकॉर्ड से खुला राज, अब तक झूठ बोल रही थी रिया
/

सुशांत सिंह के कॉल रिकॉर्ड से खुला राज, अब तक झूठ बोल रही थी रिया

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद जहां एक तरफ जांच में हर दिन कुछ नया सामने आ रहा है। तो दूसरी ओर मीडिया में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं जो चौंकाने वाले हैं। दरअसल अब सुशांत सिंह राजपूत की कॉल डिटेल सामने आई हैं। जिससे कई महत्वपूर्ण जानकारियां निकली है और इन कॉल डिटेल्स ने सुशांत सिंह राजपूत और उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के रिश्तों के बीच पड़े परदों को को हटा दिया है।

नहीं हुई कोई बातचीत

खबरों के मुताबिक जब इस कॉल डिटेल पर विश्लेषण किया गया तो पता चला है कि सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती के बीच 8 जून से 14 जून के आत्महत्या के वक्त तक किसी भी तरह की कोई बातचीत नहीं हुई थी। यह बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि 8 जून को रिया चक्रवर्ती सुशांत के घर से बाहर निकल गईं थी और 14 जून को सुशांत अपने फ्लैट में मृत पाए गए।

गौरतलब यह भी है कि सुशांत सिंह राजपूत के नंबर को रिया चक्रवर्ती ने 8 जून को घर से निकलने के बाद पूरी तरीके से ब्लॉक कर दिया था, जिसके चलते दोनों के बीच बातचीत की कोई डिटेल रजिस्टर नहीं हुई।

5 दिन में 25 कॉल्स

सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती के बीच 20 से 25 जनवरी के बीच लगभग 25 कॉल की गई थीं, यह भी इस कॉल डिटेल में सामने आया है। गौरतलब है कि इस पूरे मामले के दौरान सुशांत सिंह राजपूत अपनी बहन रानी के साथ हरियाणा के पंचकुला में थे और वो मुंबई से पंचकुला तक कार से गए थे। खबर है कि सुशांत जल्दी ही मुंबई से सब कुछ खत्म करके हिमाचल में शिफ्ट होने वाले थे।

सीबीआई करेगी मामले की जांच

सुशांत सिंह राजपूत के मसले पर अब इस पूरे मामले के सभी पहलुओं की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई करेगी। जिसकी अनुशंसा सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण कुमार सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की थी, अगले दिन सीबीआई ने इस केस की जांच को मंजूरी दे दी थी।

पिता ने की थी एफआईआर

गौरतलब की सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने मुंबई पुलिस की जांच से असंतुष्टि जाहिर करते हुए पटना में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफ आई आर दर्ज की थी। केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ प्रेम में फंसाकर सुशांत से पैसे हासिल करने और उनके परिवार द्वारा सुशांत पर मानसिक दबाव बनाने के आरोप लगाए थे। मुंबई पुलिस बिहार पुलिस का जांच में बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही थी तो केके सिंह ने सीबीआई जांच की अनुशंसा कर दी।