जेईई-नीट के छात्रोंं की मदद को तैयार सोनू सूद, बोले- कोई फंस गया तो मैं परीक्षा केंद्र तक पहुंचाऊंगा, न छोड़ें परीक्षा

मुम्बई- सोनू सूद प्रवासियों के बाद अब स्टूडेंट्स के मसीहा बनकर सामने आए हैं। उन्होंने जेईई-नीट एग्जाम्स की तारीख आगे न बढ़ने की दशा में उन सभी छात्रों की मदद करने की पेशकश की है। उन्होंने 28 अगस्त को किए दो ट्वीट्स में यह बात साफ कर दी है। प्रवासी मजदूरों की तरह उन्होंने स्टूडेंट्स से भी अपनी परेशानी शेयर करने की अपील की है।

आपको बता दें कि JEE MAINS और NEET की परीक्षा के आयोजन को लेकर देशभर में विरोध हो रहा है। इसके पहले कई राजनीतिक पार्टियां और नेता भी इसको टालने के लिए केंद्र से आग्रह कर चुके हैं।

सोनू ने कहा छात्रों से मैं आपके साथ खड़ा हूं

जेईई-नीट के छात्रोंं की मदद को तैयार सोनू सूद, बोले- कोई फंस गया तो मैं परीक्षा केंद्र तक पहुंचाऊंगा, न छोड़ें परीक्षा

सोनू सूद ने टि्वटर हैंडल पर एक पोस्टर मैसेज जारी किया। इसमें उन्होंने लिखा,

“मैं आपके साथ खड़ा हूं। अगर आप कहीं फंस जाएं तो मुझे बस अपनी मंजिल का पता बता देना। मैं आपकी परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में मदद करूंगा। अभिनेता ने यह भी कहा कि संसाधनों के अभाव की वजह से किसी की परीक्षा छूटनी नहीं चाहिए।”

यह पहला मौका नहीं है, जब सोनू छात्रों की मदद के लिए आगे आए हैं। वह उनके लिए विशेष विमान की व्यवस्था कर चुके हैं और हाल ही में हरियाणा के कुछ छात्रों के लिए स्मार्टफोन भी भेजे, ताकि वे ऑनलाइन पढ़ाई जारी रख सकें।

पहले भी सोनू कर चुके हैं परीक्षा का विरोध

इससे पूर्व सोनू सूद इस माहौल में परीक्षा कराने का विरोध कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि बच्चों को इस महामारी के बीच में परीक्षाएं देने के लिए बाहर निकलने को मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। हमें इनका समर्थन करना ही होगा। 26 लाख छात्र इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले हैं।

सोनू सूद ने ये भी कहा था कि अधिकतर छात्र बिहार से हैं, जहां कम से कम 13 से 14 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. आप कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि वो यात्रा करके परीक्षा देने आएं? उनके पास पैसे नहीं हैं, रुकने के लिए जगह नहीं है।

बच्चों और उनके माता-पिता को कम से दो से तीन महीने का वक्त दिया जाना चाहिए ताकि बच्चे मानसिक रूप से तैयार होने के बाद परीक्षा में शामिल हो सकें।

Leave a comment

Your email address will not be published.