विवेक ओबरॉय के घर पुलिस ने मारा छापा, जानिए वजह
/

विवेक ओबरॉय के घर पुलिस ने मारा छापा, जानिए वजह

बॉलीवुड कलाकार विवेक ओबरॉय के घर पर बेंगलुरु पुलिस द्वारा अचानक छापेमारी की गई यहां छापेमारी बृहस्पतिवार के दिन अभिनेता के मुंबई स्थित आवास पर की गई है. बेंगलुरु पुलिस द्वारा यहां छापेमारी क्राइम ब्रांच द्वारा जारी किए गए वारंट के साथ की गई. दरअसल विवेक ओबरॉय की पत्नी के भाई आदित्य अल्वा ड्रग्स मामले में दोषी पाया गया था. जब उनके खिलाफ कॉटनपेट पुलिस स्टेशन में केस दर्ज हुआ तो वह अचानक फरार हो गए. जिस वजह से उनकी खोजबीन को लेकर यह छापेमारी की जा रही है.

 

पुलिस को मिली थी आदित्य की मौजूदगी की खबर

आदित्य अल्वा के विवेक ओबरॉय के करीबी रिश्तेदार है. आदित्य पूर्व मंत्री दिवंगत जीवराज अल्वा के पुत्र और विवेक ओबरॉय की पत्नी प्रियंका अल्वा के भाई हैं. सगे संबंधी होने की वजह से पुलिस विवेक के निवास पर भी लगातार नजर बनाए हुए हैं. जब पुलिस को यह जानकारी मिली की फरार हुए आदित्य अल्वा विवेक ओबरॉय के घर पर है, तो वह क्राइम ब्रांच से कोर्ट द्वारा वारंट लेकर तुरंत ही वहां पहुंच गए.

 

आदित्य के माता पिता का शहर में है बड़ा नाम

आदित्य अल्वा के माता-पिता एक जानी मानी हस्ती हैं. उनके पिता जीवराज अल्वा फंडिंग के मामले में बहुत ही कुशल माने जाते थे. साथ ही उनकी माता नंदिनी अल्वा एक मशहूर नृत्यांगना और इवेंट ऑर्गेनाइजर भी है. मुख्यमंत्री एस.एम.कृष्णा के कार्यकाल के दौरान बेंगलुरु फेस्ट की स्थापना की गई थी, वह उन्हें सदस्यों में से एक हैं. आदित्य अल्वा के खिलाफ जब ड्रग्स का मामला सामने आया तो वह अचानक अपने निवास से फरार हो गए. इसके बाद पुलिस लगातार उन्हें ढूंढने में लगी हुई है.

 

आदित्य अल्वा के बंगले पर की गई थी छापेमारी

आदित्य अल्वा के गायब होने के बाद सबसे पहले पुलिस ने सर्च वारंट जारी करवाया. उसके बाद उसकी तलाश शुरू कर दी. हम आपको बता दें कि आदित्य अल्वा के बंगले ‘हाउस ऑफ लाइफ’ जोकि हेब्बल में स्थित है, पुलिस ने सबसे पहले यहीं पर छापेमारी की थी. आदित्य अल्वा का यह बंगला लगभग 4 एकड़ की जमीन पर फैला हुआ है. इसी बंगले में वह पार्टी करते थे और शहर की बड़ी-बड़ी हस्तियों को इनवाइट करते थे. ड्रग्स मामले में सिर्फ आदित्य अल्वा ही नहीं बल्कि कई और बड़े बड़े नाम शामिल हैं.