रवि किशन का जया बच्चन को करारा जवाब, खोला बॉलीवुड का काला सच
/

रवि किशन का जया बच्चन को करारा जवाब, कहा- ब्राह्मण का बेटा हूँ, बिना सपोर्ट के यहाँ तक आया हूँ

नई दिल्ली: सुशांत सिंह केस में ड्रग्स एंगल सामने आने के बाद बॉलीवुड में फैले ड्रग्स कनेक्शन पर हंगामा जारी है। वहीं अब ड्रग्स विवाद पर समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन और भाजपा सांसद रवि किशन आमने-सामने आ गए हैं। राज्यसभा में आज मंगलवार को दिए गए जया बच्चन के बयान पर बीजेपी सांसद  रवि किशन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। रवि किशन ने कहा कि मैं मेरे देश के युवाओं को खोखला नहीं होने दूंगा चाहे मेरी जान चली जाए।

हमें इंडस्ट्री को बचाना है

रवि किशन ने कहा कि मुझे जया जी से ये उम्मीद नहीं थी। मैं सेंट्रल हॉल में उनके पैर छूता हूं। हमें लगा था कि वो मेरा समर्थन देंगी। दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री को एक प्लान के तहत खत्म किया जा रहा है। जया जी ने मेरा पूरा बयान नहीं सुना हैं। रवि किशन ने कहा कि मैंने कभी यह नहीं कहा कि ‘बॉलीवुड गटर है, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं, जो इस इंडस्ट्री को ड्रग्स के माध्यम से खोखला कर रहे हैं। हमें इस इंडस्ट्री को बचाना है।

मैं देश के युवाओं को खोखला नहीं होने दूंगा

रवि किशन ने आगे कहा कि

“हम ये आवाज उठा रहे हैं, तो मैं चाहता था कि मेरे सीनियर्स साथ आएं। चाहे उनकी पार्टी अलग है पर मेरे देश के युवाओं को खोखला नहीं कर सकते, मैं खोखला नहीं होने दूंगा चाहे मेरी जान चली जाए।”

आगे उन्होंने कहा कि

“ये कई हजार करोड़ का बिजनेस है। कल मैंने आवाज उठाई और मेरे सपोर्ट की जगह मुझे जलील किया गया। मैं वही हूं जिसने कहा था कि जिंदगी झंड बा फिर भी घमंड बा, जब मेरे पास एक फिल्म नहीं थी।”

उन्होंने आगे कि

“मैं रेंग कर ऊपर आया हूं, मैंने थाली में छेद नहीं किया है। मैं एक साधारण पुरोहित का बेटा हूं और बिना किसी सपोर्ट के आज मैं इस मुकाम पर पंहुचा हूं, मैंने अभी तक 650 फिल्में की हैं। मैं योगी जी को दिल से धन्यवाद देता हूं उन्होंने अच्छा काम किया है।”

जया बच्‍चन ने दिया था ये बयान

आपको बता दें कि मंगलवार को राज्यसभा में जया बच्चन ने ड्रग्स मामले पर आ रहे बयानों से बॉलीवुड की बदनामी को लेकर चिंता जताई। साथ ही रवि किशन का नाम लिए बिना ही टिप्पणी की। जया बच्चन ने कहा था कि

“कुछ लोग बॉलीवुड को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं और इसे गटर बता रहे हैं, मैं इससे बिल्‍कुल सहमत नहीं हूं।  कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी थाली में छेद करते हैं, ये गलत बात है।”