महेश भट्ट और रिया के रिश्ते पर बोले शत्रुघ्न सिंहा, कहा....
/

महेश भट्ट और रिया का व्हाट्सएप चैट सामने आने पर दोनों के रिश्ते पर बोले शत्रुघ्न सिंहा, कहा….

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच में सीबीआइ सक्रिय हो गई है। अब हर किसी को उम्मीद है कि सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ मिलेगा।

मुम्बई- बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच में सीबीआइ सक्रिय हो गई है। अब हर किसी को उम्मीद है कि सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ मिलेगा। सीबीआइ ने एफआइआर की कॉपी पटना सिविल कोर्ट स्थित सीबीआइ के विशेष न्यायायिक दंडाधिकारी के कोर्ट में भेज दिया है। वहीं इस मामले में छह अगस्त को रिया चक्रवर्ती सहित छह के खिलाफ एफआइआर दर्ज किया गया था।

अब इस मामले में सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया को सीबीआइ की गिरफ्तारी से बचने के पटना में अग्रिम जमानत लेनी पड़ेगी। इसके लिए वे कभी भी कोर्ट में याचिका दाखिल कर सकतीं हैं। वहीं इस मामले में अपने बेबाक बोल, शॉटगन के नाम से मशहूर शत्रुघ्न सिन्हा ने बड़ी बात बोल दी है। एक चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने ये बातें कहीं हैं।

मुझे नहीं पता क्या है महेश और रिया का रिश्ता

महेश भट्ट और रिया की व्हाट्सएप चैट पर शत्रुघ्न ने कहा-

“मैं ये कहना चाहूंगा कि सारी बातों को सीबीआई के सामने पेश करना चाहिए। मैं तो ये भी नहीं जानता कि उनके बीच रिश्ता क्या है। गॉडफादर का रिश्ता था? पिता, अंकल या गहरे मित्र का रिश्ता था हमे तो नहीं पता। रिया का आप नाम ले रही हैं, मैं तो उनसे भी कभी नहीं मिला।”

वहीं उन्होंने इस मामले में ज्यादा कुछ कहने से मना कर दिया। उन्होंने कहा, जब मामला सीबीआई को सौंप दिया गया है कि ये उचित नहीं होगा कि मैं किसी और पर कोई टीका टिप्पणी करूं जबकि मैं इस केस को इतने अच्छे से नहीं जानता हूं। न मुझे कोई जानकारी है।

पहले भी कर चुके हैं सुशांत को याद

शत्रुघ्न सिन्हा ने कुछ दिन पहले सुशांत को लेकर कहा था कि

“हमारे बीच काफी समानता थी। हम दोनों बिहार से रहे हैं। वह बिना गॉडफादर के इस इंडस्ट्री में आए और उन्होंने बहुत अच्छा काम किया। मैं उनसे एक बार मिला था। जब वह मुझसे मिलने आए तो बहुत ही रिस्पेक्ट से मुझसे मिले। मैं उनकी बहुत कद्र करता था और मैं जानता था कि अगर इन्हें लोगों का साथ, सहयोग और आशीर्वाद मिलता गया तो एक दिन यह बहुत बड़े स्टार बनेंगे।”

सुशांत के सुसाइड करने पर शत्रुघ्न ने कहा था,

“उन्हें खुलकर बात करनी थी। अगर वह दिक्कत में थे और कुछ लोग उन्हें परेशान कर रहे थे तो उन्हें खुलकर उन लोगों के बारे में बात करनी थी। उन्हें उनका मुकाबला करना चाहिए था।”