गरीब किसान को सोनू सूद ने दिया नया टैक्टर, बेटियां चला रही थी हल
/

किसान बेटियों से जुतवा रहा था खेत, गरीबों के मसीहा सोनू सूद ने देखा तो घर भेजवा दिया टैक्टर

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने आंध्र प्रदेश के किसान परिवार को खेती में सहजता के लिए 10 घंटे के अंदर अंदर एक नया चमचमाता ट्रैक्टर दिया है।

मुंबई: कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन के इस वक्त में जब सरकारें लोगों की शिकायतों का समाधान नहीं कर पा रहीं ऐसे वक्त में गरीबों के लिए सोनू सूद मसीहा बन गए हैं। प्रवासियों को घर पहुँचाने से लेकर हर एक काम में सोनू सूद सरकारी व्यवस्था से कहीं तेज लोगों की मदद कर रहे हैं‌। ऐसा ही एक मामला आंध्र प्रदेश से सामने आया है और उसमें सोनू सूद ने जो काम किया है उसकी चारों तरफ प्रशंसा हो रही है।

मदद को आगे आए सोनू सूद

दरअसल, आंध्र प्रदेश के चित्तूर का एक वीडियो सामने आया था जिसमें एक नागेश्वर नाम के किसान बैलों की जगह अपनी बेटियों से हल चलवाने को मजबूर थे। लॉकडाउन के कारण उन्हें पहले भी काफी नुकसान हो चुका था उनका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ।

लेकिन जब ये वीडियो सोनू सूद ने देखा तो उन्होंने बेटियों के पढ़ने की बात करने के साथ ही एक दिन के अंदर-अंदर दो बैल देने की बात कही। लेकिन फिर थोड़ी ही देर में दोबारा ट्वीट करके ट्रैक्टर की बात कह दी। आप खुद वो ट्वीट देखिए।

एक दिन में दिया ट्रैक्टर

सोनू सूद ने अपने वादे को दिन खत्म होने से पहले ही पूरा कर दिया और उन किसानों के खेत में एक चमचमाता नया ट्रैक्टर खड़ा करवा दिया जिससे वो किसान परिवार अब आसानी से खेती के काम कर सकेंगा जिसके बाद उनकी ट्विटर पर खूब प्रशंसा हो रही है।

चंद्रबाबू नायडू ने की तारीफ

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू ने बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के काम की खूब प्रशंसा की है। साथ ही उन्होंने ने घोषणा की है कि किसान की बेटियों को पढ़ाने का पूरा खर्च वह खुद उठाएंगे जो अपने आप में एक सराहनीय पहल है।

मददगार सोनू सूद

आपको बता दें कि सोनू सूद कोरोनावायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बीच दूसरे शहरों में फंसे प्रवासी मजदूरों की मदद को आगे आने वाले सबसे पहले इंसान थे। उन्होंने इस संकटकाल में जिस तरह से प्रवासी मजदूरों गरीबों और किसानों की मदद की है उससे वह आम जनता के लिए एक हीरो बन गए हैं। उनको लेकर अलग-अलग तरह के कैंपेन रन किए जा रहे हैं और सोशल मीडिया पर उनकीक्ष तारीफ करने वालों की झड़ी सी लग गई है।