आमने-सामने आए रिया और सुशांत के वकील एक दूसरे पर किया कटाक्ष
/

आमने-सामने आए रिया और सुशांत के वकील एक दूसरे पर किया कटाक्ष

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के केस में ड्रग्स मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया गया था. अब रिया चक्रवर्ती के वकील ने सुशांत के परिवार वालों पर यह आरोप लगाया है कि, वे लोग सीबीआई जांच के बीच में हस्तक्षेप कर रहे हैं. सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील ने विकास सिंह ने एक ट्वीट भी किया था. इसके अलावा सुशांत के परिवार के वकील ने पत्रकारों से भी बात की थी.

सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील ने पत्रकारों को बताया था कि, AIIMS के एक डॉक्टर ने उनके वकील से यह कहा था कि, सुशांत सिंह राजपूत की हत्या गला दबाकर हुई है, उन्होंने यह भी कहा था कि, ” जिन डॉक्टरों ने फॉरेंसिक परीक्षण किया है, वह AIIMS के डॉक्टर की टीम में से ही थे” . सुशांत के परिवार के वकील द्वारा यह बात कहे जाने के एक दिन बाद ही रिया के वकील अब सुशांत के परिवार पर यह आरोप लगा रहे हैं.

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के परिवार वालों ने जिस वकील को हायर किया था, उन्होंने हाल ही में एक ट्वीट किया. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, ”सुशांत की आत्महत्या को हत्या साबित करने के लिए सीबीआई द्वारा की गई देर से मैं बहुत ही निराश हूं. AIIMS की टीम के डॉक्टरों ने मुझे बताया था कि, जो तस्वीरें मैंने भेजी थी, उसमें 200% यह साबित होता है कि, सुशांत की मौत आत्महत्या से नहीं बल्कि गला घोंटने से हुई”.

एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानेशिंदे ने सुशांत के परिवार के वकील पर भी टिप्पणी की. उन्होंने सीबीआई से इस मामले में नए मेडिकल बोर्ड को गठित लिए जाने का भी आग्रह किया. अपने बयान में वकील सतीश मानेशिंदे ने कहा कि, ” सुशांत सिंह राजपूत केस जांच निष्पक्ष और अनुमान से मुक्त होनी चाहिए, इसके लिए एक नया मेडिकल बोर्ड गठित करवाना चाहिए. सुशांत सिंह की तस्वीरों के आधार पर 200% निष्कर्ष निकाला जाना खतरनाक प्रवृत्ति है”.

 

सुशांत सिंह राजपूत के वकील ने एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स में कहा था कि, सुशांत के परिवार वाले निराश हो चुके है, क्योंकि अभी तक जांच में कोई भी सच सामने नहीं आया है.  NCB के द्वारा भी अभी तक कोई खास जानकारी सामने नहीं आई है. जांच एजेंसियों का हाल भी मुंबई पुलिस के जैसा ही हो गया”. उन्होंने कहा कि, ”सुशांत सिंह राजपूत के केस में अभी तक हत्या का मामला भी दर्ज नहीं किया गया है”.

 

 

AIIMS की टीम के प्रमुख डॉ सुधीर गुप्ता ने बताया था कि, ”सिर्फ तस्वीरों के माध्यम से कुछ पता नहीं लगाया जा सकता है, अभी सीबीआई भी किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंच पाई है. अंतिम बैठक के बाद साक्ष्य के आधार ही कोई निर्णय लिया जाएगा”.