शौविक की गिरफ्तारी पर सुशांत की बहन ने ट्वीट कर कही बड़ी बात
/

शौविक की गिरफ्तारी पर सुशांत की बहन ने कहा ‘भगवान को धन्यवाद’ ट्वीट कर कही ये बड़ी बात

मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने शुक्रवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत प्रकरण से जुड़े मादक पदार्थ मामले में रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया।

मुंबई- मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने शुक्रवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत प्रकरण से जुड़े मादक पदार्थ मामले में रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया। शौविक के अलावा अभिनेता सुशांत के ‘हाउस मैनेजर’ सैमुअल मिरांडा को भी गिरफ्तार किया गया है। इस पर सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

क्या बोलीं सुशांत की बहन श्वेता सिंह

अभिनेता सुशांत सिंह रणपूत की बहन सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक की गिरफ्तारी के बाद ट्वीट कर लिखा कि “भगवान को धन्यवाद। हम सभी को सत्य की दिशा में प्रेरित करते रहें”। उन्होंने एक चैनल का स्क्रीनशॉट भी साझा किया जिसमें शोविक की गिरफ्तारी का जिक्र किया गया है। उनके इस कॉमेंट्स के बाद सोशल मीडिया पर कमेंट्स की बाढ़ आ गई। 30 मिनट में उनके इस ट्वीट को 11 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक कर दिया।

श्वेता सिंह शुरुआत से ही अपने भाई को इंसाफ दिलाने की लड़ रही जंग

आज सुशांत सिंह राजपूत मामला देश के लिए एक चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं, सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति भी शुरुआत से ही अपने भाई को इंसाफ दिलाने की जंग लड़ती नजर आ रही हैं। वहीं​ सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के लिए अपने इकलौते लाडले को भुला पाना बेहद ही मुश्किल हो रहा है। सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति सोशल मीडिया पर भाई से जुड़े कई वीडियो, तस्वीरें और पोस्ट शेयर कर रही हैं।

सुबह से ही लग रहे थे गिरफ्तारी के कयास

आज सुबह 6.30 बजे ही एनसीबी की दो टीमों ने अलग-अलग रिया चक्रवर्ती व सैम्युअल मिरांडा के घरों पर छापा मारा। एनसीबी टीम में महिला अधिकारी भी शामिल थीं। एनसीबी टीम ने रिया के घर की तलाशी के दौरान उसका लैपटॉप, पुराना मोबाइल फोन, कुछ हार्ड डिस्क व अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स अपने कब्जे में लिए। इसके अलावा रिया की कार की भी तलाशी ली गई।

एनसीबी ने रिया के भाई शौविक व सैम्युअल मिरांडा दोनों को पूछताछ के लिए अपने साथ चलने का समन भी दिया और अपने साथ ही बेलार्ड एस्टेट स्थित एनसीबी के जोनल कार्यालय ले गई थी।