सुशांत का शव ले जाने वाले ड्राइवर का बयान कर रहा बड़े साजिस की तरफ इशारा

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले में हर दिन नया खुलासा हो रहा है। बिहार पुलिस की जांच में जहां खुलासे हो रहे हैं। वहीं सुशांत सिंह के केस से जुड़े लोगों से संबंधित हर दिन कुछ-न-कुछ बवालहो रहे हैं। इसी बीच अब एक नया मामला सुशांत सिंह केस में डेडबाडी लेकर जाने वाले ड्राइवर के साथ हुआ है जो कि चौका देने वाला है।

ड्राइवर को मिली धमकी

सुशांत का शव ले जाने वाले ड्राइवर का बयान कर रहा बड़े साजिस की तरफ इशारा

दरअसल सुशांत सिंह राजपूत का शव ले जाने वाले ड्राइवर को धमकी मिली है और उसे जान से मारने की धमकी दी गई है। खबरों के मुताबिक वो ड्राइवर वहीं मौजूद थे। मुंबई पुलिस ने उस ड्राइवर को कुछ डेडबॉडी ले जाने के लिए हायर किया था। एक तरफ जहां ड्राइवर का कहना है कि उसे इंटरनेशनल कॉल्स से धमकी मिल रही है। वहीं उस एजेंसी के मालिक इन बातों को खारिज कर रहे हैं।

मुंबई पुलिस लाई थी शव

अलग-अलग तरह की बयानबाजी के बीच जहां ड्राइवर का कहना है कि उसे धमकियां मिल रहीं हैं‌ तो वही एंबुलेंस के मालिक का कहना है कि उसे किसी भी तरह की धमकियां नहीं मिली है। सुशांत सिंह राजपूत का शव नीचे मुंबई पुलिस ही लेकर आई थी और उसने उनके शव को एंबुलेंस में रखा था।

परिवार ने की एफआईआर

सुशांत का शव ले जाने वाले ड्राइवर का बयान कर रहा बड़े साजिस की तरफ इशारा

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले में मुंबई पुलिस की जांच पर विश्वास ना करते हुए सुशांत के पिता ने पटना के राजीव नगर थाने में उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई थी । उनका कहना था कि रिया चक्रवर्ती ने सुशांत को प्रेम में फंसाया और पैसे के लालच में सुशांत सिंह राजपूत के साथ रिलेशनशिप में आईं। यही नहीं सुशांत पर मानसिक दबाव भी बनाया जिसके चलते सुशांत ने आत्महत्या कर ली।

नहीं मिल रहा है सहयोग

आपको बता दें सुशांत सिंह राजपूत के पिता की एफ आई आर के मद्देनजर बिहार पुलिस की एक टीम मुंबई पहुंची थी और लगभग 1 हफ्ते से वहां पर जांच का सिलसिला जारी है लेकिन सुशांत सिंह राजपूत के मामले में मुंबई पुलिस बिहार पुलिस का बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही है। कुछ दिनों पहले ही एक वीडियो सामने आया था जिसमें बिहार पुलिस के अफसरों के साथ मुंबई पुलिस के जवानों ने बदसलूकी की थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.