लंबी बीमारी के बाद केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन
//

लंबी बीमारी के बाद केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का हुआ निधन

केंद्रीय मंत्री और लोकजनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार की शाम निधन हो गया.  इस बात की पुष्टि  उनके बेटे और एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान द्वारा की गई है.  चिराग पासवान ने अपने ट्वीट में लिखा है, “पापा….अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं. Miss you Papa…”. आपको बता दें कि रामविलास पासवान पिछले कुछ महीने से बीमार चल रहे थे.

दिल्ली में चल रहा था इलाज

केंद्रीय मंत्री और लोकजनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान का नई दिल्ली के साकेत स्थित एक अस्पताल में इलाज चल रहा था. वहां बीते शनिवार को दिल का ऑपरेशन किया गया था. इसकी जानकारी भी चिराग पासवान ने दी थी. पिछले कुछ समय से बिहार चुनाव को लेकर अहम फैसले रामविलास पासवान की अस्वस्थता के चलते खुद चिराग ही ले रहे थे. हाल ही में चिराग ने ही लोक जनशक्ति पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया की पार्टी बिहार में एनडीए के साथ जाने की बजाए अकेली चुनाव लड़ेगी.

अभी कुछ दिनों पहले ही उनके दिल का एक ऑपरेशन भी हुआ था. यह बात भी चिराग पासवान ने ही ट्वीट कर शेयर की थी. चिराग पासवान ने अपने उस ट्वीट में इस बात का भी जिक्र किया था कि आने वाले दिनों में उनके पिता का एक और ऑपरेशन किया जाना था.

हाल ही में हुआ था दिल का ऑपरेशन

 

बीते 4 अक्टूबर को अपने ट्वीट के जरिए चिराग पासवान ने बताया था कि पिछले कई दिनों से पापा का अस्पताल में इलाज चल रहा है. कल शाम अचानक उत्पन्न हुई परिस्थितियों की वजह से देर रात उनके दिल का ऑपरेशन करना पड़ा. ज़रूरत पड़ने पर संभवतः कुछ हफ्तों बाद एक और ऑपरेशन करना पड़े. संकट की इस घड़ी में मेरे और मेरे परिवार के साथ खड़े होने के लिए आप सभी का धन्यवाद. आपको बता दें कि रामविलास पासवान ने 74 वर्ष की उम्र में अपनी साँसे छोड़ी.