मुंबई पहुंचे विनय तिवारी ने किया सुशांत केस में बड़ा खुलासा
/

सुशांत केस की जांच के लिए मुंबई पहुंचें तेज तर्रार आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी, किया ये बड़ा खुलासा

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन को लेकर अब हर दिन नया खुलासे हो रहे हैं। मुंबई पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रहीं है लेकिन इतने वक्त बाद भी जब कोई नतीजा नहीं निकला तो सुशांत सिंह राजपूत के परिवार ने पटना में एफआईआर दर्ज कराई जिनमें रिया चक्रवर्ती को मुख्य अपराधी माना गया है। लेकिन बिहार पुलिस को मुंबई में जांच के लिए मुंबई पुलिस का सहयोग नहीं मिल रहा है जिसके चलते अब एक तेज तर्रार आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई भेजा गए हैं।

समन्वयता की कमी

ऐसा कहा जा रहा है कि बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के बीच कोई कॉर्डिनेशन नहीं है और इसके चलते मुंबई में बिहार पुलिस की टीम को परेशानियां हो रहीं हैं। इसको लेकर लगातार मुंबई पुलिस पर सवाल भी उठ रहे। हैं इसी बीच अब सुशांत सिंह राजपूत के केस के सिलसिले में मुंबई पहुंचे आईपीएस अधिकारी ने इस मामले में सभी बातों को खारिज किया है। उन्होंने कहा,

“ऐसा नहीं है कि कोआर्डिनेशन नहीं हो रहा था। ऐसा कतई नहीं कहा जा सकता। बीते एक सप्ताह से हमारी टीम यहां काम कर रही है। चूंकी जांच की एक प्रक्रिया होती है और उसका अगला स्टेप सुपरविजन होता है। इसके लिए किसी सीनियर अफसर को आना होता है। उसी क्रम में मुझे यहां भेजा गया है ताकी मैं अपनी टीम के साथ मीटिंग करूं और जांच की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकूं।’

सभी से करेंगे पूछताछ

मुंबई पुलिस अभी तक 35 से ज्यादा लोगों से इस मामले में पूछताछ कर चुकी है, जिसके बाद भी अभी तक कोई ठोस आधार नहीं मिला है। ऐसे में जब विनय तिवारी से पूछताछ को लेकर जानकारी लेने की कोशिशें की गईं तो उन्होंने कहा कि वो सभी से पूछताछ करेंगे जिसकी जांच में जरूरत होती जाएगी। उन्होंने कहा,

‘हमें जिससे भी जरूरत होगी, हम पूछताछ करेंगे। अब तक हम इस मामले से जुड़े उन लोगों से पूछताछ कर रहे हैं, जो सीधे तौर पर अंतिम दिनों या फिर उनकी जिंदगी में वैसे भी काफी करीब थे। हमारी टीम ने इस दिशा में काफी काम किया है और अब अगर जांच को आगे बढ़ाने के लिए फिल्मकारों से पूछताछ की जरूरत हुई तो हम वह भी करेंगे लेकिन हमारा अपना तरीका होगा।’

नहीं मिल रहे डॉक्यूमेंट

ऐसा कहा जा रहा है कि बिहार पुलिस लगभग एक हफ्ते से मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत के केस की जांच कर रही है लेकिन उन्हें अभी तक किसी भी तरह के कोई मेडिको और लीगल डॉक्यूमेंट्स नहीं मिले हैं जिससे जांच प्रभावित हो सकती है। इस पर जब 2015 बैच के तेज तर्रार आईपीएस अफसर विनय तिवारी से सवाल पुछे गए तो उन्होंने कहा कि वो सारे डॉक्यूमेंट्स जुटा लेेंगे ये उनका काम है। उन्होंने कहा,

‘केस से जुड़े जितने भी डाक्यूमेंट हैं. वह पाना हमारा काम है और इसी लिए हमारी टीम भी यहां आई हुई है. मैं भी इसीलिए आया हूं और हम पूरा प्रयास करेंगे कि हमारे केस से संबंधित सारे डाक्यूमेंट हमें मिल जाएं।’