जो बाइडन को अमेरिका का राष्ट्रपति बनाने में इन भारतीयों का है हाथ

नई दिल्‍ली: अमेरिकी राजनीति में भारतवंसियों की प्रभावशाली भूमिका रही है। अमेरिका में चाहे किसी भी राजनीतिक दल का राष्‍ट्रपति हो भारतीयों ने अपनी क्षमता और कौशल का लोहा मनवाया है। इसलिए यह कयास लगाया जा रहा है कि बाइडन की टीम में भारतवंशियों की अहम भूमिका होगी। अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्‍मीदवार जो बाइडन की जीत में भारतवंसियों ने बड़ी अहम भूमिका न‍िभाई है। राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की टीम में भी कई भारतवंशी प्रमुख भूमिका में रहे हैं। आइए जानते हैं कि इस बार किन भारतवंसियों ने बाइडन के चुनावी कैंपेन में अहम भूमिका न‍िभाई है।

विवेक मूर्ति बाइडन के टॉप एडवाइजर्स थे

जो बाइडन को अमेरिका का राष्ट्रपति बनाने में इन भारतीयों का है हाथ

अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव के दौरान पब्लिक हेल्‍थ और कोरोना वायरस महामारी पर विवेक मूर्ति बाइडन के टॉप एडवाइजर्स थे। कर्नाटक से ताल्‍लुक रखने वाले डॉ विवेक मूर्ति का जन्‍म 1जुलाई,1977 को इंग्‍लैंड में हुआ था। बाल्‍यावस्‍था में उनके परिजन इंग्‍लैंड से अमेरिका आ गया। विवेक पेशे से डॉक्‍टर हैं। डॉ. विवेक अमेरिका के 19वें जनरल सर्जन थे। 2014 में चुनावी कैंपेन के दौरान विवेक मूर्ति लगातार बाइडन को ब्रीफ करते थे। इसके अलावा उच्‍च अधिकारियों के साथ मिलकर वह सुरक्षित कैंपेन इवेंट कराने में मदद करते थे।

बाइडन कई बार विवेक की सार्वजनिक तारीफ कर चुके हैं। इसलिए यह कयास लगाए जा रहे हैं कि बाइडन प्रशासन में वह हेल्‍थ सिक्रेटरी बन सकते हैं तत्‍कालीन अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने उन्‍हें अमेरिका के टॉप डॉक्‍टर के पद पर बिठाया था। इस पद पर पहुंचने वाले विवेक सबसे कम उम्र के पहले भारतीय अमेरिकी शख्‍स थे। उस वक्‍त उनकी उम्र 37 साल की थी। डोनाल्‍ड ट्रंप ने उन्‍हें पद से हटा दिया था।

बाइडन के पॉलिटिक्‍ल कैंपेनर अमित जानी

जो बाइडन को अमेरिका का राष्ट्रपति बनाने में इन भारतीयों का है हाथ

अमित जानी भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशंसक और समर्थक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल हासिल करने के बाद अमित ने कैप्‍शन के साथ फेसबुक पर कई तस्‍वीरों को पोस्‍ट किया। उन्‍होंने मोदी की जीत पर खुशी व्‍यक्‍त की थी। अमित ने वर्ष 2017 में संयुक्त राज्य अमेरिका की आधिकारिक यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी। अमित के पिता कथित तौर पर संयुक्त राज्य अमेरिका में भाजपा के प्रवासी मित्रों के संस्थापकों में से एक हैं।

बाइडन की चुनाव प्रचार टीम में अमित जानी ने प्रमुख भूमिका निभाई। वह बाइडन के पॉलिटिक्‍ल कैंपेनर थे। अमेरिकी चुनाव में उन्‍होंने एशियन समुदाय के लोगों को बाइडन के साथ जोड़ने में अहम भूमिका अदा की। अमित साउथ एशियन समुदाय के लोगों को अपने पक्ष में करने में माहिर हैं। अमित वर्तमान में न्‍यूजर्सी में गवर्नर फ‍िल मर्फी के प्रशासन में कार्यरत हैं। उन्‍होंने राष्‍ट्रपति चुनाव अभियान में टीम के सलाहकार के रूप में काम किया।बाइडन प्रशासन में उन्‍हें काेई जिम्‍मेदारी मिल सकती है।

My name is supriya .i am from ballia. I have done my mass communication from govt. polytechnic lucknow.in my family, there are 5 members including me.My mother house maker.my strengths are self confidence,willing...