इजरायल का दावा, खोज निकाला कोरोना वायरस को खत्‍म करने का अचूक तरीका

येरूशलम- रूस की कोरोना वैक्सीन बनाने के दावे के बीच इजराइल ने भी अपना दावा ठोंक दिया है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच इजरायल ने दावा किया है कि उसने एक वैक्सीन बना लिया है। इजरायल ने आगे कहा कि वैक्सीन का जल्द ही मानव पर परीक्षण किया जाएगा। इजरायल के रक्षा और प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा है कि हमने एक बेहद शानदार वैक्‍सीन का निर्माण कर लिया है। जल्द ही वैक्सीन का इंसानों पर ट्रायल के लिए प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इंस्टीट्यूट के डायरेक्‍टर ने कहा कि हम शरदकालीन छुट्टियों के बाद इस वैक्‍सीन का इंसानों पर ट्रायल शुरू करेंगे।

कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित करने का तरीका किया विकसित

इजरायल का दावा, खोज निकाला कोरोना वायरस को खत्‍म करने का अचूक तरीका

इजरायल के रक्षा मंत्री नफताली बेनेट का कहना है कि वैज्ञानिकों ने देश की प्रमुख बायालॉजिकल रिसर्च इंस्टिट्यूट में नोवेल कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित करने का एक नायाब तरीका विकसित कर लिया है। इस लैब का दौरा करने के बाद बेनेट ने इसकी जानकारी दी है। रक्षा मंत्री के मुताबिक यह एंटीबॉडी मोनोक्‍लोनल तरीके से कोरोना वायरस पर हमला करती है और बीमार लोगों के शरीर के अंदर ही कोरोना वायरस का खात्‍मा कर देती है।

मई में भी किया था दावा

इससे पहले मई महीने में भी इस्राइल के तत्कालीन रक्षा मंत्री नफताली बेन्नेट ने दावा किया था कि इंस्टीट्यूट ऑफ बॉयोलॉजिकल रिसर्च ने कोरोना की वैक्सीन बना ली है। उन्होंने कहा था कि बायोलॉजिकल इंस्टीट्यूट को कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी तैयार करने में बड़ी सफलता मिली है।

उन्होंने दावा किया था कि यह एंटीबॉडी मोनोक्लोनल तरीके से वायरस पर हमला करती है और बीमार लोगों के शरीर के अंदर ही कोरोना को मार देती है। उन्होंने कहा था कि शोधकर्ता अब इस वैक्सीन के पेटेंट और बड़े पैमाने पर उत्पादन की तैयारी कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.