मौत के मुंह में जाने के 45 मिनट बाद लौटा आदमी, शेयर किया वहां का एक्सपीरिएंस

मौत के बाद आदमी के साथ क्या होता है ये बात किसी को ना पता? मौत के मुंह में जाना और वहां से फिर वापस आने का अनुभव कैसा होता है? इन सवालों के जवाब लगभग हर कोई जानना चाहता है। आप ने भी कई ऐसे खबरें पड़ी होगी जहां व्यक्ति मौत के मुंह में जाकर जिंदा वापस आया हो, लेकिन काभी किसी ने पूरी सच्चाई नहीं बताई। इन खबरों पर संशय बना ही रहा। आज हम आपको एक ऐसी सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें एक व्यक्ति 45 मिनट तक मृत अवस्था में रहा और फिर वापस जिंदा भी हो गया।

ये कहानी 45 साल के माइकल नैपिन्स्की की है। वो 7 नवंबर को माउंट रेनियर नेशनल पार्क में स्नोशिंग कर रहे थे। बर्फ अधिक होने की वजह से वे अपने साथ से बिछड़ गए। बाद में उन्हें खोजा गया, लेकिन वे नहीं मिले। फिर 8 नवंबर यानि एक दिन बाद रेस्क्यू टीम को उनका शरीर मृत हालत में मिला। उन्हें हेलीकॉप्टर से हॉस्पिटल लाया गया। यहां डॉक्टर को चेकअप के दौरान पता चला कि उनका दिल काम नहीं कर रहा है। ऐसे में उन्होंने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

45 मिनट बाद हुए जिंदा

मौत के मुंह में जाने के 45 मिनट बाद लौटा आदमी, शेयर किया वहां का एक्सपीरिएंस

लगभग 45 मिनट तक मृत रहने के बाद डॉक्टर की एक टीम ने उन्हें एक्स्ट्राकोर्पोरियल झिल्ली ऑक्सीजनेशन (ईसीएमओ) मशीन पर रखा। इसके बाद डॉक्टर्स ने बंदे को जिंदा करने की ठान ली और वे इसमे आश्चर्यजनक रूप से सफल भी रहे। 10 तारिख को माइकल को होश भी आ गया।

मौत के मुंह में जाने के 45 मिनट बाद लौटा आदमी, शेयर किया वहां का एक्सपीरिएंस

इस चमत्कार को देख माइकल के दुखी रिश्तेदार भी हैरान रह गए। एक मरा आदमी उनकी आंखों के सामने जिंदा हो गया। मौत के मुंह से बाहर आने के बाद माइकल ने अपना अनुभव शेयर किया। उन्होंने बताया कि ‘ये सब किसी भयानक सपने से कम नहीं था। डॉक्टर्स ने मुझे पुनः जीवित कर नया जीवन दिया है। अब मैं इस लाइफ को दूसरों को समर्पित करूंगा।’

इस मशीन से हुए ठीक

मौत के मुंह में जाने के 45 मिनट बाद लौटा आदमी, शेयर किया वहां का एक्सपीरिएंस

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ECMO एक मशीन होती है, जिसके माध्यम से खून शरीर से दिल-फेफड़े की मशीन के बाहर पंप किया जाता है, इससे कार्बन डाइऑक्साइड को हट जाती है और बॉडी में ऑक्सीजन से भरे खून को वापस टिशू में भेजा जाता है। यह प्रक्रिया बहुत ही मुश्किल, महंगी और जोखिम वाली है।

Shukla Divyanka

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...