दक्षिण-चीन सागर को परमाणु हथियार लेकर अमेरिका ने घेरा, फिर उड़ा ड्रैगन की गीदड़ भभकी का मजाक

नई दिल्ली: अमेरिका और चीन के बीच लगातार तनातनी बढ़ रही है भारत और चीन के सीमा विवाद में अमेरिका भारत के साथ खड़ा दिख रहा था। अमेरिका की दक्षिणी चीन सागर में भी रुचि बढ़ रही है। इसी बीच अमेरिका इसी दक्षिणी चीन सागर में युद्धाभ्यास कर रहा है और चीन इस स्थिति से खौफ खा रहा है।

दक्षिण-चीन सागर को परमाणु हथियार लेकर अमेरिका ने घेरा, फिर उड़ा ड्रैगन की गीदड़ भभकी का मजाकअमेरिका का खौफनाक रुख

चीन लंबे वक्त से अमेरिका को गिदड़भभकी दे रहा है। इसी बीच अमेरिका ने दक्षिणी चीन के इलाके में युद्धाभ्यास कर चीन की मुसीबतों‌ इजाफा कर दिया है। अमेरिका के सामने चीन की ताकत कहीं नहीं टिकती है लेकिन चीन अमेरिका को जुबानी जंग से उकसाता रहता है। जिसको लेकर चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अमेरिका के इस कदम को शक्ति प्रदर्शन बताया है।

दक्षिण-चीन सागर को परमाणु हथियार लेकर अमेरिका ने घेरा, फिर उड़ा ड्रैगन की गीदड़ भभकी का मजाकअमेरिकी नौसेना ने उड़ाया मजाक

दक्षिणी चीन सागर में अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर्स की तैनाती से भड़के चीन के सरकारी मीडिया की धमकियों पर अमेरिकी नौसेना ने उसकी मौज ले ली है। चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स की धमकी भरे ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अमेरिकी नेवी ने कहा कि इसके बावजूद वे उस इलाके में तैनात हैं। रविवार को ही ग्लोबल टाइम्स ने चीन के मिसाइलों की तस्वीर ट्वीट करते हुए अमेरिका को धमकी दी थी और अमेरिका को चेतावनी की गीदड़भभकी दी थी।

दक्षिण-चीन सागर को परमाणु हथियार लेकर अमेरिका ने घेरा, फिर उड़ा ड्रैगन की गीदड़ भभकी का मजाकखुल्ला शक्ति प्रदर्शन

दरअसल चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अमेरिका के B-52H बमवर्षक विमान और युद्धाभ्‍यास को एक संयोग नहीं बल्कि शक्ति का खुला प्रदर्शन करार दिया है। अखबार ने कहा था कि अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन का परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम B-52H बमवर्षक विमान का गुआम में तैनात करना और युद्धाभ्‍यास करना चीन को अपनी ताकत दिखाना है जो कि खौफनाक है।

Leave a comment

Your email address will not be published.