गिनती से खुश नहीं हैं डोनाल्ड ट्रंप, कहा लीगल वोटों की...
/

अमेरिका चुनाव: वोटिंग की गिनती से खुश नहीं हैं डोनाल्ड ट्रंप, कहा लीगल वोटों की गिनती हो तो मै ही जीतूँगा

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की जंग अब आरपार की जंग में बदल गई है। राष्ट्रपति चुनाव का नतीजा अब तक नहीं निकल पाया है। डेमोक्रेट्स के उम्मीदवार जो बाइडन, राष्ट्रपति चुनाव में जीत के करीब पहुंच गए हैं। लेकिन नतीजा अब तक किसी एक के पक्ष में नहीं आया है। वहीं इस बीच डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अगर लीगल वोट गिने जाएं तो चुनावों में उनकी जीत होगी।

 ट्रंप ने लगाया फर्जीवाड़े का आरोप 

अमेरिका चुनाव: वोटिंग की गिनती से खुश नहीं हैं डोनाल्ड ट्रंप, कहा लीगल वोटों की गिनती हो तो मै ही जीतूँगा

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट कर चुनावों में फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है। ट्रंप ने कहा है कि अगर सिर्फ लीगल वोट गिना जाए तो मैं आसानी से जीत जाऊंगा लेकिन गलत वोटों को गिना जा रहा है। उन्होंने कहा कि पोल एजेंटों को काउंटिंग सेंटर में एंट्री नहीं मिल रही है। पर्यवेक्षकों को किसी भी तरह से अपना काम करने की अनुमति नहीं दी गई थी और इसलिए इस अवधि के दौरान स्वीकार किए गए वोटों को अवैध वोटों के लिए निर्धारित किया जाना चाहिए। उन्होंने ट्वीट में अपील करते हुए लिखा कि अब सबकुछ अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट को तय करना चाहिए।

ट्रंप की टीम कोर्ट पहुंची

अमेरिका चुनाव: वोटिंग की गिनती से खुश नहीं हैं डोनाल्ड ट्रंप, कहा लीगल वोटों की गिनती हो तो मै ही जीतूँगा

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टीम की ओर से अमेरिका के कई राज्यों में कोर्ट का रुख किया गया है। मिशिगन और जॉर्जिया में जहां ट्रंप की मांग को ठुकरा दिया है वहीं पेन्सिलवेनिया में डोनाल्ड ट्रंप की मांग मान ली गई है। पेन्सिलवेनिया में अदालत के आदेश पर रिपब्लिकन और डेमोक्रेट दोनों पार्टियों के पोलिंग एजेंट्स को अब काउंटिंग बूथ पर एक्सेस मिलता रहेगा। इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया था कि उनके पोल एजेंटों को काउंटिंग सेंटरों में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है जबकि डेमोक्रेट पार्टी को एंट्री मिल रही है।

इससे पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि मुझे लगता है कि हम ये चुनाव आसानी से जीत जाएंगे। हमारे पास पर्याप्त सबूत हैं। हम इस मामले को कोर्ट में ले जाएंगे। ट्रंप ने यहां तक कह दिया कि मुझे लगता है अमेरिका इतिहास में इतनी बड़ी वोटों की चोरी इससे पहले कभी नहीं हुई है।