3 बच्चों का बाप, पेशे से है रोबोट, जानिए क्यों पहनता है हाई हिल और स्कर्ट

आज हम आपकों जर्मनी में रहने वाले एक अमेरिकी रोबोट इंजीयनियर के बारे में बताएंगे, जो कि अपनी जिंदगी तो बहुत सरल तरीके से जी रहे है, लेकिन उनकी कपड़े पहनने की सेंस बाकी मर्दों से काफी हट के है. उनका नाम मार्क ब्रायन है .वह अपने आउटफिट्स के जरिए हर दिन लैंगिक रूढ़ियों को चुनौती देते हैं. मार्क की शादी को 11 साल हो चुके हैं और उनकी पत्नी उनके ड्रेसिंग स्टाइल को पूरा समर्थन भी देती हैं. कई बार तो वो उन्हें ड्रेस चुनने में भी मदद करती हैं. उनके 3 बच्चे हैं और बेटी को तो उनकी हाई हील वाली सैंडिल बेहद पसंद हैं. एक इंटरव्यू में मार्क ने जोर दिया कि लोग जो भी कपड़े पहनना चाहते हैं, उन्हें पहनना चाहिए. स्टावइल को किसी भी लिंग से जोड़ना गलत है.

61 साल के मार्क की ऐसी है सोच

61 वर्षीय मार्क कहते हैं, ‘मैं 35 साल से कॉर्पोरेट माहौल में काम कर रहा हूं और मुझे हमेशा सूट और टाई पहननी पड़ती थी. इससे मैं बहुत बोर हो गया था. रंग भी वही गिने-चुने नीले, काले और ग्रे जैसे ही थे. इसके बाद एक दिन अचानक बदलाव आ गया.’ मार्क ने कहा कि एक दिन मैं जूतों की शॉपिंग करते हुए वूमन सेक्शदन में चला गया वहां मुझे कुछ अच्छे रंग दिखे.

3 बच्चों का बाप, पेशे से है रोबोट, जानिए क्यों पहनता है हाई हिल और स्कर्ट

मैंने सोचा कि मैं हाई हील के जूते पहनूंगा और मैंने ऐसा करना शुरू कर दिया. पर तब भी मैं पहले की तरह काला पैंट और सफेद शर्ट पहन रहा था. एक दिन मेरे सहकर्मियों ने मजाक में कहा कि किसी दिन तुम स्कर्ट पहनना शुरू कर दोगे. मैंने सोचा ठीक है और स्कर्ट पहनना शुरू कर दिया. इस बात को 3 साल हो गए हैं.’

मार्क का ड्रेसिंग सेंस हो गया फेमस

मार्क ब्रायन का मानना है कि कपड़े का कोई लिंग नहीं होना चाहिए. जो लोग मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करते हैं, वे मेरी तस्वीरों को बहुत पसंद करते हैं

3 बच्चों का बाप, पेशे से है रोबोट, जानिए क्यों पहनता है हाई हिल और स्कर्ट

और कहते हैं कि मैं उन्हें प्रेरित कर रहा हूं कि वे भी अपनी पसंद के कपड़े पहन सकें. बल्कि इसके लिए न केवल पुरुषों बल्कि महिलाओं ने भी मेरी सराहना की.’

Shukla Divyanka

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...