Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के नए बयान के बाद बीएमसी ने कंगना रनौत के दफ्तर पर एक नोटिस चिपका दी थी. हम आपको बता दें कि कंगना के आलीशान दफ्तर पर बीएमसी ने बुलडोजर चलवा दिया है. एक्ट्रेस कंगना रनौत का यह आलीशान दफ्तर बांद्रा वेस्ट के पाली हिल रोड पर स्थित है. हम आपको बता दें कि एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अपने टूटे हुए ऑफिस की तस्वीरें खुद ही सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

जानकारी के मुताबिक बीएमसी के एक सीनियर अधिकारी ने यहां बताया कि ”कंगना को 24 घंटे का समय दिया गया था, लेकिन जब उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया तो बीएमसी में कंगना राणावत के आलीशान दफ्तर पर जमकर तोड़फोड़ कर दी”.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

 

कंगना का आलीशान दफ्तर मुंबई के पाली हिल में बना हुआ था. एक्ट्रेस कंगना रनौत का ये ऑफिस 48 करोड़ की लागत में बनकर तैयार हुआ था. कंगना का यह बंगला 5 नवंबर को पूरी तरह से रिकंस्ट्रक्शन करवाया गया था. बाद में बंगले को ऑफिस में बदल दिया गया था.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

हम आपको बता दें कि बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की सेलिब्रिटी डिजाइनर शबनम गुप्ता ने ऑफिस को बनाने का काम करवाया था. कंगना रनौत ने इस वर्क स्पेस को शबनम के साथ शेयर किया था. कंगना रनौत के इस ऑफिस में एक से एक नए फर्नीचर लगे हुए थे. कंगना ने अपने इस ऑफिस में यूरोपियन स्टाइल वाला टच करवाया था, उनके इस स्टूडियो में कस्टमाइज और हैंड मेड फर्नीचर बना हुआ था.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

कंगना रनौत की इस आलीशान दफ्तर में टेक्सचर्ड वॉल, फ्लोर लैम्प्स और ट्रेडिशनल फर्नीचर का इस्तेमाल करवाया गया था. यह बहुत ही खूबसूरत नजर आ रहा था कंगना ने वर्कस्पेस को काफी सुंदर लुक में प्रस्तुत किया था.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

जानकारी के मुताबिक यह पता चला है कि कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पीओके से की. जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार और कंगना के बीच में बहस बाजी छिड़ गई. कंगना रनौत आज दोपहर तक मुंबई पहुंच रही हैं. उन्होंने यह जानकारी ट्विटर के द्वारा दी थी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कंगना रनौत ने इस प्रोडक्शन हाउस का नाम मणिकर्णिका फिल्म के ऊपर रखा था. उनकी यह फिल्म 2019 में आई थी. कंगना राणावत ने यह नाम अपनी फिल्म ‘मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी’ के सम्मान के लिए रखा था.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

कंगना रनौत ने ट्वीट में लिखा, ” मैं कभी गलत नहीं थी और मेरे दुश्मनों ने यह बार-बार प्रूफ कर दिया. उन्होंने बार-बार यह बताया कि हमारी मुंबई POK है.”

I am never wrong and my enemies prove again and again this is why my Mumbai is POK now #deathofdemocracy 🙂 pic.twitter.com/bWHyEtz7Qy

— Kangana Ranaut (@KanganaTeam) September 9, 2020

 

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

बाद में कंगना रनौत ने ट्विटर पर यह भी कहा था कि वह हार मानने वाली नहीं है वह मुंबई आएंगी. कंगना ने बयान दिया था कि उनकी जवाबी कार्यवाही के बाद शिवसेना ने उनके ऑफिस को निशाना बनाया.

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

 

कंगना रनौत ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मणिकर्णिका फिल्म्ज में पहली फिल्म अयोध्या की घोषणा हुई, यह मेरे लिए एक इमारत नहीं राम मंदिर ही है. आज वहां पर बाबर आया है आज इतिहास फिर दोहराया गया है राम मंदिर फिर टूटेगा लेकिन बाबर याद रखना यह मंदिर फिर से बनेगा और फिर से जय श्री राम का नारा गूंजेगा”. जय श्रीराम जय श्रीराम!!

मणिकर्णिका फ़िल्म्ज़ में पहली फ़िल्म अयोध्या की घोषणा हुई, यह मेरे लिए एक इमारत नहीं राम मंदिर ही है, आज वहाँ बाबर आया है, आज इतिहास फिर खुद को दोहराएगा राम मंदिर फिर टूटेगा मगर याद रख बाबर यह मंदिर फिर बनेगा यह मंदिर फिर बनेगा, जय श्री राम , जय श्री राम , जय श्री राम 🙏 pic.twitter.com/KvY9T0Nkvi

— Kangana Ranaut (@KanganaTeam) September 9, 2020

Bmc नहीं चला सकती कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर, हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला

नहीं टूटेगा कंगना का ऑफिस

BMC के इस हरकत के बाद कंगना के एक स्टाफ ने वकील की मदद से मुंबई हाईकोर्ट में इसके खिलाफ याचिका दायर की, जिसके बाद हाईकोर्ट ने तुरंत इस मामले की सुनवाई करते हुए BMC को आदेश दिया है, कि वो कंगना के ऑफिस में कोई तोड़फोड़ न करें,

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...

Leave a comment

Your email address will not be published.