सोने की कीमत में आया उम्मीद से ज्यादा गिरावट, जाने भाव
/

GOLD PRICE : सोने की कीमत में आया उम्मीद से ज्यादा गिरावट, जाने 1 तोले का भाव

दिल्ली के सर्राफ बाजार में सोने की कीमत में बढ़ोतरी हुई है। सोने की कीमत में 122 रुपये बढ़ कर 51989 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया है। वहीं चाँदी की कीमत में भी बढ़ोतरी हुई है, जिसमे 340 रुपये बढ़कर 69665 रु प्रति किलोग्राम हो गया है। वहीं दिल्ली सर्राफ बाजार में रुपये में गिरावट के बाद मंगलवार को सोने और चाँदी के दाम में बढ़ोतरी हुई है।

एचडीएफसी सिक्युरिटी ने जानकारी देते हुये बताया कि पिछले सत्र में सोना 51,867 रुपये प्रति 10 ग्राम था। और चाँदी 340 रु बढ़ कर 69665 रु प्रति किलो पर बंद हुआ था। वरिष्ठ विश्लेषक तपन पटेल ने कहा कि

“रुपये का मूल्य घटने की वजह से दिल्ली में सोने चाँदी के मार्केट में बढ़ोतरी हुई है। अमेरिकी डॉलर के मुताबिक रुपये का विनियम डर 25 पैसा घटकर 73.63 रुपये प्रति डॉलर पर बन्द हुआ है। और सोने का भाव मामूली बढ़त के साथ 1930 प्रति डॉलर और चाँदी का 26.91 प्रति डॉलर अंतराष्ट्रीय बाजार में बढ़त के साथ अपवर्तित रहा है।”

महीने में 5500 रुपये सस्ता हुआ सोना-

एक महीने में सोने की कीमत में 5500 रु की गिरावट आई है। 7 अगस्त को सोने में वायदा बाजार के अपना उच्च अस्तर छुआ है, जिसके बाद 10 ग्राम सोने की कीमत 56200 रु हो गया। तब से अब तक 10 फीसदी गिरावट हुई है।

सोने के दाम में क्यों इतना गिरावट-

इसकी वजह है कि उम्मीद से ज्यादा आय, अमेरिका में रोजगार डेटा जिसकी वजह से अमेरिका डॉलर मजबूत हो रहा है। जिसके वजह से भारत मे गिरावट देखी जा रही है। अमेरिका में अगस्त के माह में 13.71 लाख नौकरियां बढ़ी हैं, जिसके वजह से बेरोजगारी की दर में गिरकर 8.4 फिसदी आ गयी।

सोने में गिरावट के बाद डिस्काउंट-

इतना गिरावट के बाद भी डीलर्स डिस्काउंट खूब दे रहे हैं। बता दें कि कारोबारी ने ग्राहकों को 40 डॉलर प्रति औसत 10 ग्राम पर डिस्काउंट मिला है।

इस साल 30 प्रतिशत चढ़ा सोना-

आखिर दिनों में सोने की कीमत 800 रु गिरावट हुई और महीने भर में 5500 हुई है। सोने की गिरावट के बाद भी इस साल 30 फीसदी चढ़ी है। जिसके बाद सोना अब 50690 रु प्रति 10 ग्राम हो गया।

चाँदी का हाल-

सोने के साथ-साथ चाँदी के दामो में भी गिरावट आई है। महीने में चाँदी लगभग 10,000रु गिरा है। पिछले एक हफ्ते में चाँदी की कीमत में 1200 रु तक गिरावट हुई है।

कोरोना के समय सोना बना वरदान-

सोना वह सम्पति है जो कभी भी काम आ सकती है। इस समय जो संकट चल रही है उसमें सोना ने एक रिकॉर्ड बनाया है। निवेशकों के लिये ये बेहतर साबित हुआ है। कुछ विश्लेषक की माने तो सोना अभी कुछ साल तक ऊंचे अस्तर पर बना रहेगा।

मुसीबत के समय सोने की कीमत में चमक-

मुसीबत में सोना खूब चमका है। अभी हाल में सीरिया पर अमेरिका का खतरा मंडरा रहा था, तब सोने के दाम आसमान छूने लगे थे। औऱ जब ईरान और अमेरिका का तनाव बढा या जब अमेरिका के बीच ट्रेड वार की स्थिति बनी, तब सोने की कीमत बढ़ी, हालाँकि अभी सामान्य स्थिति की वजह से सोने के दाम काफी कम हो गये हैं।

81 प्रतिशत घट कर आया सोने की आयत-

अप्रैल जुलाई की अवधि में सोने की आयात 81.22 प्रतिशत घट कर 2.47 अरब डॉलर या 18590 करोड़ रुपये रह गए। ये देश के चालू खाते के घाटे को प्रभावित करता है। कोरोना काल मे सोने की मांग में काफी गिरावट आई है। जिसके वजह से आयात घटा है। पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की समान अवधि में सोने का आयात 13.16 अरब डॉलर या 91,440 करोड़ रुपये रहा था।