मिठाई समझकर शख्स ने दे दिया सफाईकर्मी को 10 लाख रूपये, फिर
/

शख्‍स ने सफाईकर्मी को दी दीपावली की मिठाई, घर आकर खोला डिब्‍बा तो निकले 10 लाख रुपये

दीपावली के अवसर पर मिठाई के डिब्बे में मिठाई की जगह पर 10 लाख रुपए मिलने पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम की महिला सफाई कर्मचारी ने ईमानदारी के साथ पैसे लौटा दिए. उनकी इस ईमानदारी को लेकर आज पूर्वी दिल्ली के महापौर निर्मल जैन मुख्यालय स्थित कार्यालय में उन्हें सम्मानित करेंगे. कांति नगर वार्ड में नगर निगम की एक महिला सफाई कर्मचारी ने इमानदारी की एक मिसाल पेश की है, जिसको लेकर आज उन्हें सम्मानित किया जाएगा.

बुजुर्ग के 10 लाख रुपए लौटा दिए

दरअसल रोशनी नाम की इस कर्मचारी को एक बुजुर्ग ने मिठाई की जगह पैसों से भरा हुआ एक थैला थमा दिया. महिला जब घर आई और थैला खोलकर देखा तो दंग रह गई, क्योंकि उस थैले में दस लाख रुपये थे. महिला ने इस बात की जानकारी तुरंत सूचना वार्ड के सफाई अधीक्षक को दे दी. इसके बाद दोनों पार्षद पूरे मामले को लेकर कंचन महेश्वरी के कार्यालय पर पहुंच गए. यहां पर उस बुजुर्ग को भी बुलाया गया और उस बुजुर्ग के दस लाख रुपए वापस कर दिए गए. सोनू नंदा को जब अपनी धनराशि वापस मिली तो वह प्रसन्नता से फूले नहीं समाए. वह महिला से इतना परेशान हो गए कि उन्होंने रोशनी को 2100 रुपये का इनाम के तौर पर दिए.

शख्‍स ने सफाईकर्मी को दी दीपावली की मिठाई, घर आकर खोला डिब्‍बा तो निकले 10 लाख रुपये

महिला की इमानदारी को देखकर कंचन महेश्वरी ने कहा कि, ” रोशनी ने पूरे वार्ड के अलावा पूर्वी नगर निगम का नाम भी रोशन किया है. निगम के कर्मचारियों को हमेशा शक की दृष्टि से ही देखा जाता था, लेकिन रोशनी ने यह साबित कर दिया है कि, पूर्वी निगम में काम करने वाले लोग कितने ईमानदार हैं .”

मिठाई की जगह पर दे दिए थे ₹1000000

दरअसल मंगलवार की सुबह पूर्वी निगम में स्थाई कर्मचारी रोशनी शंकर नगर एक्सटेंशन की गली में झाड़ू लगा रही थी. उसी समय वहां रहने वाले सोनू नंदा ने उन्हें एक थैला दिया, और बोला कि दीपावली की मिठाई रख लो. रोशनी ने थैला अपने पास रख लिया. जब घर पहुंची तो मिठाई की जगह नोटों की गड्डी पाई. पैसे देख कर उन्होंने तुरंत सफाई अधीक्षक जितेंद्र कुमार को इस बात की जानकारी दी. जानकारी मिलते ही दोनों लोग पार्षद कंचन महेश्वरी के कार्यालय में पहुंचे.

सोनू नंदा ने बताया कि, ”उन्होंने मिठाई समझकर थैले में पैसे दे दिए थे, लेकिन जब उनके पैसे गायब हुए तो, उन्होंने पैसे खोजने शुरू कर दिए थे. अपने पैसे वापस पा कर वे काफी प्रसन्न हैं. रोशनी की तारीफ करते हुए सोनू नंदा ने कहा है ईमानदारी आज भी जिंदा है”.

शख्‍स ने सफाईकर्मी को दी दीपावली की मिठाई, घर आकर खोला डिब्‍बा तो निकले 10 लाख रुपये

रोशनी ने पेश की इमानदारी की मिसाल

रोशनी ने कहा कि, ” भले ही मेरे परिवार में हजारों मुसीबतें हो लेकिन मैंने कभी ऐसा नहीं किया है कि, मैं किसी और के पैसे रख लूं. यह पैसे देख कर मुझे एक बार भी नहीं लगा कि मुझे यह पैसे रखने चाहिए. मुझे लगा कि मुझसे ज्यादा उन बुजुर्ग को इस पैसे की जरूरत होगी, जिसके बाद मैंने यह पैसे वापस लौटाने का फैसला किया”.

रोशनी की इस बात से लोग उनकी काफी तारीफ कर रहे हैं, और इमानदारी की मिसाल भी पेश कर रहे हैं.

यह भी पढ़े: बिहार के श‍िक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने 3 दिन में ही दिया इस्तीफा, जानिए वजह

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर कार्य करती हूं. वैसे तो मुझे ऑनलाइन वेब पर हर बिट्स की खबर पर काम करना पसंद है, लेकिन मेरा रुझान मनोरंजन और करंट अफेयर की खबरों पर ज्यादा रहता है. इसके अलावा मुझे देश-विदेश से जुड़ी हर खबरों पर नजर रखना और जानकारी लेना पसंद है.