दिल्ली में पटाखे जलाने व बेचने पर 30 नवंबर तक लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1 लाख तक जुर्माना

नई दिल्ली: बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली में दीवाली के त्यौहार से पहले केजरीवाल सरकार ने पटाखों को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं। शुक्रवार को दिल्ली सरकार में पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि पटाखे जलाने और पटाखे बेचने वालों पर एक लाख रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

एक लाख तक लगेगा जुर्माना

दिल्ली में पटाखे जलाने व बेचने पर 30 नवंबर तक लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1 लाख तक जुर्माना

 

आपको बता दें कि दिल्ली के पर्यावरण मंत्री का यह बयान दिल्ली मुख्यमंत्री की उस घोषणा के 1 दिन बाद आया है, जिसमें मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ग्रीन क्रैकर सहित किसी भी अन्य प्रकार के पटाखों की बिक्री व प्रयोग पर प्रतिबंध लगाया था।  वहीं इस घोषणा के बाद ही पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा है कि पटाखे बेचने या जलाने वाले लोगों पर वायु प्रदूषण (नियंत्रण) अधिनियम 1981 के तहत एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा सकता है। आगे गोपाल राय ने बताया है कि आरोपी के खिलाफ एयर एक्ट के तहत केस बनाया जाएगा, जिसमें 1 लाख रुपए तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है।

सोमवार को होगी एक अन्य बैठक

दिल्ली में पटाखे जलाने व बेचने पर 30 नवंबर तक लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1 लाख तक जुर्माना

इसी कड़ी में आगे उन्होंने सोमवार को होने वाली एक बैठक के बारे में भी जानकारी दी। गोपाल राय ने बताया कि वह पर्यावरण विभाग, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) व दिल्ली पुलिस के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा करेंगे। गोपाल राय का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण के स्रोत वैसे तो साल भर बने ही रहते हैं, लेकिन दीवाली के पर्व में पटाखे फोड़ने व पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने से दिल्ली का प्रदूषण काफी ज्यादा बढ़ जाता है। इसके अलावा उन्होंने कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों का भी हवाला देते हुए कहा कि लोगों की जान बचाने के लिए यह कदम उठाना जरूरी है।

पटाखा कारोबारियों ने जाहिर किया गुस्सा

दिल्ली में पटाखे जलाने व बेचने पर 30 नवंबर तक लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1 लाख तक जुर्माना

आपको बता दें कि, गुरुवार को सीएम केजरीवाल ने पटाखों पर प्रतिबंध को लेकर घोषणा की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि दिल्ली में 7 नवंबर से 30 नवंबर तक पटाखे आदि बैन रहेंगे। वहीं इस घोषणा के बाद कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी। जिसमें पटाखा कारोबारियों ने भी इस पर अपना गुस्सा जाहिर किया।

वहीं दिल्ली के एक पटाखा विक्रेता ने इस प्रतिबंध पर कहा कि,

दिल्ली सरकार को पटाखों पर बैन लगाना ही था, तो इसके बारे में पहले ही जानकारी दे देती और हमें लाइसेंस भी जारी न करती। हमने जो माल उठा रखा है और जो बुकिंग कर रखी है वो सभी तो वेस्ट हो गई। हमें करीब 15 लाख का नुकसान हो रहा है।”

Leave a comment

Your email address will not be published.