हाथरस गैंगरेप मामले में योगी आदित्यनाथ ने लिया ये फैसला
/

हाथरस गैंगरेप मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया ये फैसला, विरोधी पार्टी ने दिया ऐसा रिएक्शन

उत्तर प्रदेश में गैंगरेप का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यह मामला यूपी के हाथरस का है. गैंगरेप पीड़िता को दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां पर उसकी मौत हो गई. पीड़िता का सब रात के समय है उसके गांव पहुंचाया गया, लेकिन यूपी हाथरस पुलिस पर यह आरोप लगाया जा रहा है कि, अंतिम संस्कार घरवालों की मर्जी के बगैर ही कर दिया गया.

इस बारे में सबूत भी सामने आया है. जिसमें पुलिस वाले लड़की की चिता को सजाते हुए दिखाई दे रहे हैं, और उन्होंने आग भी लगाई है. यह पूरा मामला कैमरे में कैद हुआ है. बताया जा रहा है कि, ”पीड़िता के घर वाले इस बात की जिद कर रहे थे कि, बेटी को घर ले जाएंगे, लेकिन पुलिस प्रशासन ने घर नहीं ले जाने दिया और और वहीं अंतिम संस्कार करने का फैसला किया. इस बात को लेकर पीड़िता के घरवाले और पुलिस प्रशासन में काफी देर तक बहस भी हुई.

पीड़िता के पिता ने भी आरोप लगाया है कि, उन्हें घर में ही बंद कर दिया गया था. पीड़िता के अन्य रिश्तेदारों का भी यही कहना है कि, जब पुलिस प्रशासन द्वारा अंतिम संस्कार कर दिया गया, तब वह वहां पर पहुंच पाए. परिवार वालों के मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस प्रशासन ने उनकी तस्वीरें भी खींची.

गैंगरेप मामले प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा देने को कहा है. उनका मानना है कि, उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के शासन में जनता को न्याय नहीं मिल रहा है इसलिए उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए”.

मनीष सिसोदिया का ट्वीट

राजधानी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ” उत्तर प्रदेश में पुलिस ने जिस तरह पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया है, वह भी बलात्कारी मानसिकता का ही एक प्रतीक है, सत्ता जाति और वर्दी के अहंकार में आकर अब इंसानियत तार-तार हो गई है”.

 

AIMIM के मुख्य असदुद्दीन ओवैसी का ट्वीट

AIMIM के मुख्य असदुद्दीन ओवैसी ने हाथरस गैंगरेप मामले में आधी रात को किए जाने वाले अंतिम संस्कार को लेकर कई सवाल खड़े किए हैं, इस मामले को लेकर उन्होंने ट्वीट भी किया है.

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात

हाथरस की घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बात की है. प्रधानमंत्री ने योगी आदित्यनाथ जी से सभी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही और कठोर कदम उठाए जाने की बात की.

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गैंगरेप मामले को लेकर SIT गठन किया है. उन्होंने गृहमंत्री की अध्यक्षता में इस कमेटी का गठन किया. डीआईजी चंद्रप्रकाश और आईपीएस पूनम को इसका मुख्य सदस्य बनाया गया है. घटना की तक पहुंचने के लिए और समय बद्ध रिपोर्ट को निर्देशित करने के लिए निर्देश दिए गए.

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती का ट्वीट

हाथरस गैंगरेप मामले में भोजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने भी कड़ी निंदा की है. उन्होंने पीड़िता का रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार किए जाने की भी निंदा की. उन्होंने कहा कि, ”रात में अचानक अंतिम संस्कार कर देने से संदेह पैदा होता है”.

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ट्वीट

हाथरस गैंगरेप मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि, ”हाथरस की पीड़िता का दरिंदों ने बेरहमी से बलात्कार किया. यह बहुत ही पीड़ादायक घटना है”.

 

 

कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला का ट्वीट

हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर योगी सरकार पर लगातार विपक्ष हमला कर रहे हैं. कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ”हाथरस में वाल्मीकि समाज के परिवार पर अत्याचार की सभी हदें पार कर दी गई है, मां बाप से बिटिया का अंतिम संस्कार करने का हक भी छीन लिया गया है, बेटी की अंतिम यात्रा रीति-रिवाजों से नहीं करवाई गई. रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार किया गया, योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दे”.

 

 

हाथरस के हैरान कर देने वाले मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य ने फैसला लेने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट को निर्देश दिए है. इसमें जितने भी आरोपी पाए गए हैं उन सब को अब पुलिस की गिरफ्त में ले लिया गया है.

CJI से हाथरस गैंगरेप मामले में संज्ञान लेने के लिए डीसीडब्ल्यू चेयरपर्सन ने अपील भी की है. उन्होंने सभी दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिए जाने की अपील की.