राजनाथ के बयान से भड़का चीन, फिर दे दी युद्ध की गीदड़ भभकी
/

राजनाथ के बयान से भड़का चीन, दे डाली युद्ध की गीदड़ भभकी

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के लोकसभा में चीनी सेना की पोल खोलने पर चीन का सरकारी मुखपत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स भड़क उठा है।

पेइचिंग- भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के लोकसभा में चीनी सेना की पोल खोलने पर चीन का सरकारी मुखपत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स भड़क उठा है। ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर हू शिजिन ने कहा कि चीन शांति और युद्ध दोनों ही के लिए तैयार है। उन्‍होंने दावा किया कि चीनी सेना के दबाव की वजह से भारतीय सेना नरम रुख अपनाने पर मजबूर हुई हैं।

उन्होंने कहा कि भारत के रक्षा मंत्री का बयान उकसाने वाला है और इससे सीमा पर सर्दियों के मौसम में तनाव बहुत बढ़ सकता है। साथ ही ये भी लिखा कि बीजिंग को चीन-भारत सीमा विवाद को शांतिपूर्वक सुलझाने के लिए प्रयास करते रहना चाहिए, लेकिन अपनी सेना को युद्ध के लिए तैयार भी रखना होगा।

सीमा पर तनाव के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया

ग्लोबल टाइम्स ने विशेषज्ञ के हवाले से कहा कि लद्दाख सीमा पर तनाव की स्थिति के जल्द खत्म होने के आसार नहीं है। भारत के रक्षा मंत्री अपने बयानों से नागरिकों को इस बात भरोसा दिलाना चाहते हैं कि उनकी सेना और सरकार पूरी तरह तैयार है। लेकिन सच्चाई इसके उलट है, सीमा पर तनाव की स्थिति भारत के कारण ही बनी है।

उन्‍होंने यह भी धमकी दी कि अगर भारत ने मास्‍को में विदेश मंत्रियों के बीच हुई पांच सूत्री सहमति को लागू नहीं करता है तो चीनी सेना भारत को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है।

क्या कहा था राजनाथ सिंह ने

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के मुद्दे पर लोकसभा में बयान दिया। उन्होंने कहा कि भारत अपनी संप्रभुता और अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं करेगा और भारतीय सेना किसी भी परिस्थिति के लिए पूरी तरह तैयार है। रक्षा मंत्री ने ये भी कहा था कि

‘सीमा पर जवान पूरी तरह से सतर्क हैं। हमारे सशस्त्र बलों का मनोबल काफी मजबूत है। वे दुर्लभ ठंडे तापमान में भी ऊंचाई पर लड़ाई लड़ सकते हैं। भारत चाहता है कि बातचीत से मसला सुलझे, लेकिन भारत हर तरह के हालातों से निपटने के लिए तैयार है।’

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा कि 15 जून को गलवान में जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन की सेना को भारी नुकसान हुआ।