लाइव शो के दौरान कॉमेडियन ने की अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी हो गई पिटाई

कॉमेडियन द्वारा लाइव शो के दौरान हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने को लेकर मारपीट हो गई, जिसके बाद पूरे मामले को लेकर आरोपी को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। बता दें कि, यह मामला इंदौर का है जहां पर कॉमेडियन मुनव्‍वर फारुकी आरोपी के द्वारा इस तरह अभद्र टिप्पणी करने का मामला दर्ज किया गया।

लाइव शो के दौरान कॉमेडियन ने की अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी हो गई पिटाई

इंदौर में बीजेपी के विधायक माननीय लक्ष्मण सिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह के द्वारा इस बात का आरोप लगाया गया है कि, ” इंदौर में आयोजित होने वाले एक कॉमेडी शो में हिंदू देवी देवताओं को लेकर और साथ ही साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेकर के अभद्र टिप्पणी की गई”। इतना सब कुछ होने के बाद शो में काफी हंगामा भी हुआ।

चलते शो में हुई मारपीट

अधिकारियों की मानें तो इंदौर के 56 दुकान क्षेत्र के एक कैफे में शुक्रवार के दिन हास्य शो का आयोजन किया जा रहा था, जिस में विधायक के बेटे एकलव्य सिंह दर्शक के तौर पर मौजूद थे। जब कॉमेडियन द्वारा अमित शाह के खिलाफ टिप्पणियां हुई, तो लोगो ने इस का विरोध किया और फिर वहां पर जमकर हंगामा शुरू हो गया। इसके बाद कॉमेडी शो को बीच में ही रोकना पड़ा।

तुकोगंज पुलिस स्टेशन में हंगामे के बाद एफ आई आर भी दर्ज करवाई गई। तुकोगंज थाने के प्रभारी कमलेश शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि, “गुजरात के जूनागढ़ के रहने वाले एक हास्य कलाकार मुनव्वर फारूखी के अलावा अन्य चार स्थानीय लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पांचों आरोपी गिरफ्तार भी हो चुके हैं”

लाइव शो के दौरान कॉमेडियन ने की अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी हो गई पिटाई

हिंदू देवी देवताओं पर भी अभद्र टिप्पणी

हास्य शो में मौजूद एकलव्य सिंह की माने तो वह अपने कुछ साथियों के साथ टिकट खरीद पर यह कॉमेडी शो देखने के लिए गए थे। जहां पर मुख्य कॉमेडियन के तौर पर फारूकी आए हुए थे। उन्होंने हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ जमकर अभद्र टिप्पणियां की और मजाक उड़ाया, साथ ही साथ गोधरा कांड और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेकर भी अनुचित तरीके से जिक्र किया। उन्होने इस शो का वीडियो भी बनाया और शो रोक दिया। यह सब होने के बाद कॉमेडियंस और आयोजकों को पकड़कर तुकोगंज थाने ले गए और मामला दर्ज करवाया।

कोरोना काल में नहीं अनुमति

कुछ खबरों की माने तो कैफे में जमकर हंगामा और मारपीट भी हुई, जिनमें एकलव्य सिंह के साथी भी मौजूद थे, लेकिन इस बात को लेकर एकलव्य सिंह ने साफ इंकार कर दिया है। एकलव्य सिंह ने आरोप लगाया है कि, कार्यक्रम का आयोजन बिना किसी अनुमति के किया जा रहा था, जबकि कोरोना संक्रमण के समय में ऐसे कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं दी गई है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग कार्य पालन नहीं किया गया। एक छोटे हॉल में कम से कम 100 लोगों को बैठाया गया था।

लाइव शो के दौरान कॉमेडियन ने की अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी हो गई पिटाई

इन धाराओं में मामला दर्ज कर अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेजा

पांचों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 295 ए (किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को ठेस करने के इरादे से जानबूझकर किए गए द्वेष पूर्ण कार्य के लिए), धारा 269 (लापरवाही भरा काम करने के लिए जिससे जानलेवा बीमारी का संक्रमण फैलने का खतरा हो) और अन्य संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज हुआ था।

पुलिस ने 5 आरोपियों को कोर्ट में पेश किया है, जहां पर अदालत ने जमानत देने से इनकार करते हुए 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में रख दिया है। अदालत में हुई बहस के दौरान आरोपी के वकील अंशुमन श्रीवास्तव ने कहा कि- उनके क्लाइंट के खिलाफ प्राथमिकी में लगाए गए आरोप अस्पष्ट है और मामला दलीय राजनीति से प्रेरित होकर दर्ज करवाया गया है।

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...