इन 2 देशों ने चीन छोड़ गोरखपुर की इस कंपनी को दिया बड़ा ऑर्डर
/

चीन को मात दे रही भारतीय कम्पनियां, इन 2 देशों ने चीन छोड़ गोरखपुर की इस कंपनी को दिया बड़ा ऑर्डर

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एक कारोबारी ने एक 100 वाट का कूलर तैयार किया है और इसकी कीमत भी काफी कम है मात्र 4 से 5 हजार रुपये।

गोरखपुर- उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एक कारोबारी ने एक 100 वाट का कूलर तैयार किया है और इसकी कीमत भी काफी कम है मात्र 4 से 5 हजार रुपये। सबसे बड़ी बात ये है कि इस कूलर को खरीदने के लिए बड़ी मात्रा में विदेशों से भी आर्डर आ रहे हैं। इस कूलर को बनाने वाले गोरखपुर के मशहूर कारोबारी साहू समूह है।

सूडान को किया जाएगा निर्यात

अफ्रीकी देश सूडान से मांग आने के बाद साहू समूह ने 75 दिनों के रिसर्च के बाद यह मॉडल तैयार किया है। नवंबर महीने में इसका निर्यात किया जाएगा। आपको बता दें कि हाल ही में साहू समूह को केन्या से पंखों के ऑर्डर मिले थे, वहां पंखे भेज भी दिए गए हैं।

ये है कूलर की क्वालिटी

आज भी भारत के बाजार में लोकल कंपनियों के कूलर का वर्चस्व है। कूलर लोकल हो या कंपनी का सामान्य कूलर 125 से 230 वाट की खपत करता है। वहीं साहू समूह द्वारा तैयार इस कूलर में पावर सेवर मोड पर 100 वाट की खपत होगी, फुल पर चलाने पर यह 120 वाट खपत करेगा। जबकि अन्य कूलर लो पर भी 160 वाट से अधिक खपत करते हैं।

कूलर में लगे एल्युमीनियम के 17 इंच ब्लेड के कारण हवा पर्याप्त मिलेगी। यह क्यू-7 फाइव जी मॉडल है। इस कूलर की नवंबर में गर्मी शुरू होने के साथ ही आपूर्ति शुरू हो जाएगी। अभी आठ मॉडल सूडान भेजे गए हैं, जिनमें से तीन से चार मॉडल के लिए ऑर्डर मिल गए हैं।

चीन को पहुंचाई करारी चोट

पूरे विश्व में चीन के सस्ते सामानों की धूम है। पर इन प्रोडक्ट की सबसे बड़ी कमी ये होती है कि इनकी क्वालिटी बहुत खराब होती है। इस कारण मध्यवर्ग इनको खरीदने को लेकर असमंजस में रहता है। वहीं साहू समूह द्वारा तैयार किये जा रहे कूलर की क्वालिटी बेहतरीन है। वहीं कोरोना वायरस महामारी का जनक चीन के होने के कारण कई देशों ने चीन से सामान मंगाना बंद कर दिया है। इसका सीधा फायदा भारतीय कंपनियां उठा रही हैं।

चीन के बाजार पर है नजर

चीन से जिन देशों में कूलर व पंखे जाते थे, साहू समूह ने वहां संपर्क कर अपेक्षाकृत सस्ते व अच्छे कूलर व पंखे देने का प्रस्ताव रखा। सूडान एक गर्म देश है। गरीबी होने के साथ ही वहां बिजली की दरें भी महंगी हैं, ऐसे में अधिकतर लोग कूलर व पंखे पर ही निर्भर रहते हैं। वहां से मांग आने के बाद गीडा में 100 से 110 वाट खपत वाला कूलर तैयार किया गया है। इसकी कीमत करीब साढ़े चार हजार रुपये होगी। कंपनी का दावा है कि कूलर प्रति वर्ष करीब 3500 रुपये बिजली का खर्च बचाएगा।